रेत माफियाओं का अड्डा बनी करबला रेत खदान

7:47 pm or September 26, 2021
सौरभ तिवारी
होशंगाबाद ,26  सितम्बर , अभीतक । जिले में रेत माफियाओं की दबंगाई इसी बात से लगाई जा सकती है कि वह एनजीटी की रोक के बाद भी नर्मदा तवा सहित अन्य सहायक नदियों की रेत अवैधरूप से उठाने में नहीं डर रहे है। मुख्यमंत्री के निर्देशों के बाबजूद भी राजनैतिक संरक्षण प्राप्त तथाकथित रेतमाफियाओं के कारण करोडो़ का ठेका लेने वाली कंपनी को घाटा हो रहा है साथ ही शासन को भी रायल्टी का चूना लग रहा है विगत दिवस  जिला खनिज अधिकारी शशांक शुक्ला व आरकेटीसी कंपनी की संयुक्त फ्लाईंग स्काट ने करबला रेत खदान पर छापामार कार्रवाई की इस दौरान अवैधरूप से रेत भर रही करीब 4 ट्रेक्टर ट्रालियां भाग गई व एक नीले रंग की ट्रेक्टर ट्राली को झाडियों से पकडने में सफलता मिली जिसे सिटी कोतवाली थाने में पुलिस अभिरक्षा में रखा गया है। विदित रहे कि 20 सितंबर को करबला रेत खदान से पकडी़  एक ट्रेक्टर ट्राली के विरूद्ध  खनिज सर्वेयर कृष्णकांत परस्ते ने धारा 353, 379, सार्वजनिक संपत्ति नुकसान अधिनियम 1984 की धारा 3 के तहत मामला दर्ज कराया है।
 जिला मुख्यालय पर नर्मदा की बीटीआई स्थित करबला रेत खदान और नर्मदा पुल के पास खोजनपुर पुल घाट रेत खदान पर माफियाओं द्वारा दबंगई से उत्खनन किया जा रहा है। रेत माफिया कृषि उपयोग में आने वाले टै्रक्टर ट्रालियों के माध्यम से शहर में रेत का अवैध कारोबार धडल्ले से कर रहे है। जागरूक  नागरिकों का कहना है कि शासन प्रशासन इन पर कार्यवाही करें  ताकि अंकुश लग सके।
इनका कहना
 करबला रेत खदान से ट्रेक्टर ट्राली से रेत के उत्खनन की जानकारी पर रेत ठेका कंपनी के साथ छापामार कार्रवाई कर एक टै्रक्टर ट्राली को जप्त किया गया।
शंशाक शुक्ला,  जिला खनिज अधिकारी होशंगाबाद
इनका कहना
 रेत चोरों के कारण कंपनी को नुकसान हो रहा है। जिला प्रशासन व खनिज विभाग निरंतर कार्रवाई कर रहा है। संयुक्त शनिवार को कार्रवाई में एक ट्रेक्टर ट्राली पकडी गई है। करबला रेत खदान से निरंतर कुछ लोगों द्वारा ट्रेक्टर ट्राली से रेत चोरी कर शहर में सप्लाई कर रहे है।
 रिंकू बोहरा,  मैनेजर आरकेटीसी कंपनी