रेलवे ने इलेक्ट्रिक इंजन का ट्रायल बिरला नगर ग्वालियर से उदी मोड़ उत्तर प्रदेश तक एक घंटा 45 मिनट में किया

 भिंड से डॉक्टर रवि शर्मा
भिंड ८ सितम्बर ;अभी तक; बिरला नगर ग्वालियर से उदी मोड़ तक 101 किलोमीटर लंबे इलेक्ट्रिक ट्रैक पर बीती रात किया गया इलेक्ट्रिक इंजन का ट्रायल । रात 12:00 बज बिरला नगर स्टेशन ग्वालियर से रवाना हुआ इलेक्ट्रिक इंजन । करीब 101 किलोमीटर का यह दायरा 100 की स्पीड से प्रति घंटे की गति से इंजन को चलाया गया ।
            इस दौरान उप मुख्य विद्युत इंजीनियर मुकेश मौर्य इंजन में मौजूद थे अब तक मुख्य रेल संरक्षा आयुक्त सी आर एस इस प्रकार निरीक्षण करने के लिए आएंगे । इसके लिए रेलवे के अफसरों ने प्रस्ताव बनाकर भेज दिया है।  जी आर एस के निरीक्षण के बाद ग्वालियर इटावा ट्रैक पर कुछ नई ट्रेनें भी चलेंगे इसका फायदा सीधे तौर पर यात्रियों को होगा । अभी इस ट्रैक पर ग्वालियर इटावा ट्रैक पर पैसेंजर और झांसी इटावा एक्सप्रेस चल रही है जबकि कोटा इटावा एक्सप्रेस रद्द चल रही है रेलवे ने बिरला नगर से उदी मोड़ रेल ट्रैक को इलेक्ट्रॉनिक पढ़ने पर रेलवे ने 90 करोड़ रुपए खर्च किए हैं इस ट्रैक को इलेक्ट्रॉनिक इंजन चलाने के लिए अभी डीजल इंजन से ट्रेनें चलने के कारण ग्वालियर से इटावा ट्रैक पर 80 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़ रही थी लेकिन अब इस ट्रैक पर विद्युतीकरण होने के कारण ट्रेनें 1 से 10 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़ सकती हैं ग्वालियर इटावा ट्रैक पर ट्रेनिंग कम है यदि रेलवे स्टेशनों को चलाता है तो कानपुर जाने के लिए दूरी कम हो जाएगी इससे यात्रियों का समय बचेगा