रोजा रखने वालों के लिए ईद का पर्व खुदा की तरफ से तोफहा   अता की नमाज, मनाया पर्व

9:58 pm or May 3, 2022

प्रहलाद कछवाहा

मंडला 03 मई ;अभी तक;  रमजान के पवित्र महीना के आखिर में मुस्लिम समुदाय के द्वारा ईद का त्यौहार मनाया जाता है। ये पर्व उन लोगो के लिये खुदा की तरफ से तौफा है जिन्होंने पूरे महीने रोजा रखे और इबादत की। एक मुसलमान के लिये ये बहुत ही बरकत वाला माह होता है। इस माहे रमजान में लोग दिन और रात इबादत करते है। रात में विशेष नमाज पढ़ी जाती है। जिसको तरावीह कहाँ जाता है, जो मस्जिद के इमाम या हाफिज के द्वारा पूरी कुरान को सुनाया जाता है।

विगत दो वर्षो से कोरोना काल के चलते लोग अपने घरों ेमें इस त्यौहार को मनाया, इस वर्ष राहत मिली और ईद का पर्व मनाया गया।  ईद के दिन छोटे बच्चों की खुशी देखती बनती है, सुबह उठ कर तैयार होना, नए कपड़े पहनना और अपने बड़ो से ईद की ईदी लेना, बडो से दुआए लेना और मस्ती करना। बड़ो ने भी एक दूसरे को मुबारक बाद पेस की, लोगो ने पर्व में देश की अमन और शांति की दुआ मांगी। सुबह से ही पुलिस के जवान जगह-जगह तैनात रहे।