लोकसभा उप निर्वाचन-2021, कलेक्टर ने किया शुष्क दिवस घोषित

मयंक शर्मा

बुरहानपुर 23 अक्टूबर ;अभी तक;  लोकसभा उपचुनाव-2021 के अंतर्गत दिनांक 30 अक्टूबर, 2021 को मतदान कराया जाना है। भारत निर्वाचन आयोग नई दिल्ली एवं मध्यप्रदेश शासन वाणिज्यिक कर विभाग भोपाल के निर्देशों के परिपालन में कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री प्रवीण सिंह ने मध्य प्रदेश लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम, 1951 की धारा 135 ग एवं मध्य प्रदेश आबकारी अधिनियम-1915 की धारा 24 की उपधारा (1) के अधीन प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए निम्नानुसार शुष्क अवधि/शुष्क दिवस घोषित किया है –

1. लोकसभा उप निर्वाचन-2021 के अंतर्गत मतदान दिनांक 30 अक्टूबर, 2021 को मतदान समाप्त होने के 48 घंटे पूर्व से लेकर मतदान समाप्ति तक अर्थात दिनांक 28 अक्टूबर, 2021 को शाम 6 बजे से दिनांक 30 अक्टूबर, 2021 को मतदान समाप्ति होने तक की अवधि हेतु शुष्क दिवस घोषित किया जाता है। उक्त अवधि में बुरहानपुर जिले की समस्त देशी मदिरा दुकानें एवं विदेशी मदिरा दुकाने, आनंद रेस्टरेरेंट बार एफ. एल-2, होटल हाईराईज रीजेन्सी एफ.एल-3 बार तथा अम्बी वाईन आउटलेट आदि समस्त प्रकार की मदिरा दुकाने बंद (मदिरा क्रय, विकय-उपभोग प्रतिबंधित) रहेगें। इसी प्रकार बुरहानपुर जिले में स्थित देशी मदिरा स्टोरेज भांडागार में उक्त अवधि में मदिरा का निर्माण, आयात, निर्यात एवं परिवहन पूर्णतः प्रतिबंधित किया जाता है।

2. लोकसभा उप निर्वाचन-2021 के अंतर्गत मतगणना हेतु दिनांक 2 नवम्बर, 2021 संपूर्ण दिवस (अर्थात दिनांक 1 नवम्बर, 2021 रात्रि 11.30 बजे से दिनांक 3 नवम्बर, 2021 को प्रातः 8.30 बजे तक) को शुष्क दिवस घोषित किया जाता है। उपरोक्त अवधि में बुरहानपुर जिले की नगर निगम सीमा क्षेत्र में स्थित देशी/विदेशी मदिरा की कुल-15 दुकानें एवं आनंद रेस्टोरेंट बार एफ.एल-2, होटल हाईराईज रीजेन्सी एफ.एल-3 बार तथा अम्बी वाईन आउटलेट आदि समस्त प्रकार की मदिरा दुकाने बंद (मदिरा क्रय-विक्रय-उपभोग प्रतिबंधित) रहेगें। इसी प्रकार बुरहानपुर जिले में स्थित देशी मदिरा स्टोरेज भांडागार में उक्त अवधि में मदिरा का निर्माण, आयात, निर्यात एवं परिवहन पूर्णतः प्रतिबंधित किया जाता है।

3. उपरोक्त घोषित शुष्क अवधि/शुष्क दिवसों में मतदान क्षेत्र में मतदान समाप्त होने के 48 घंटे की अवधि के दौरान उस मतदान क्षेत्र के भीतर किसी होटल, भोजन, पाठशाला, दुकान में अथवा किसी अन्य लोक स्थान या निजी स्थान में कोई भी स्पिरिट्युक्त, किण्वित या मादक द्रव्य या वैसी ही प्रकृति का अन्य पदार्थ न तो विक्रय किया जावेगा और न ही वितरित किया जावेगा तथा मदिरा के व्यक्तिगत भंडारण एवं गैर लायसेंस प्राप्त परिसर मंें मदिरा का भंडारण पूर्णतः प्रतिबंधित किया जाता है।

4. कोई भी व्यक्ति उपधारा (1) के उपबंधों का उल्लंघन करेगा वह कारावास से जिसकी अवधि छः मास तक की हो सकेगी या जुर्माने से 2000/- रुपये (दो हजार रूपये) तक हो सकेगा या दोनों से दण्डनीय होगा।

5. जहां कोई व्यक्ति इस धारा के अधीन किसी अपराध के लिए सिद्धदोष ठहराया जाता है, वहां स्पिरिट्युक्त, किण्वित या मादक लिकर या वैसी ही प्रकृति के अन्य पदार्थ, जो उसके कब्जे में पाए जाए, अधिहरण के दायी होगे और उनका व्ययन ऐसी रीति से किया जाएगा जो विहित की जाए। कलेक्टर ने संबंधितों को निर्देशित किया है कि शुष्क दिवस आदेश का पालन कड़ाई से कराया जाना सुनिश्चित करें।