लोक सेवा गारंटी के तहत बरेली सीएमओ पर पांच हजार रूपए का जुर्माना

दीपक कांकर

रायसेन, 30 सितम्बर ;अभी तक;  लोक सेवा गारंटी के अंतर्गत अधिसूचित सेवा के आवेदन पत्र का निर्धारित समयावधि के पश्चात निराकरण करने पर कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव द्वारा मुख्य नगरपालिका अधिकारी बरेली श्री श्यामसुंदर श्रीवास्तव पर पांच हजार रूपए का जुर्माना लगाया गया है। मुख्य नगरपालिका अधिकारी बरेली श्री श्रीवास्तव को सात दिवस के भीतर जुर्माना राशि चालान के माध्यम से जमा करने के आदेश दिए गए हैं।

उल्लेखनीय है कि बरेली के वार्ड क्रमांक-09 निवासी आवेदक श्री वैभव गुप्ता द्वारा 20 फरवरी 2020 को लोक सेवा केन्द्र बरेली में मप्र लोक सेवा गारंटी अधिनियम 2010 के तहत अधिसूचित सेवा क्रमांक-18.7 विवाह पंजीयन करने के लिए आवेदन पत्र प्रस्तुत किया गया था। आवेदन का निराकरण पदाभिहीत अधिकारी मुख्य नगरपालिका अधिकारी बरेली द्वारा समय सीमा में निर्धारित दिनांक 01 अप्रैल 2020 तक नहीं किया गया। निर्धारित दिनांक तक आवेदन का निराकरण नहीं करने पर मुख्य नगरपालिका अधिकारी श्री श्रीवास्तव को कारण बताओ सूचना पत्र जारी किया गया। मप्र लोक सेवाओं के प्रदान की गारंटी अधिनियम 2010 की धारा 3 के अंतर्गत लोक सेवा गारंटी अंतर्गत अधिसूचित सेवा के लिए पदाविहित अधिकारी को ऑनलाईन आवेदन पत्रों के निराकरण के लिए समय सीमा में ही आवेदकों को निराकरण किया जाना प्रावधानित है।

आवेदक श्री वैभव गुप्ता द्वारा 20 फरवरी 2020 को आवेदन प्रस्तुत किया गया, लेकिन आवेदित सेवा की ऑनलाईन निर्धारित दिनांक 01 अप्रैल 2020 तक निराकरण नहीं कर 19 जून 2020 को निराकरण किया गया। कलेक्टर श्री भार्गव द्वारा मप्र लोक सेवाओं के प्रदान की गारंटी अधिनियम 2010 की धारा 7 के तहत मुख्य नगरपालिका अधिकारी बरेली श्री श्रीवास्तव पर पांच हजार रूपए का जुर्माना लगाते हुए एक सप्ताह के भीतर जुर्माना राशि चालान के माध्यम से निर्धारित मद में जमा करने के आदेश दिए हैं।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *