लड़कियों को दहलीज से बाहर निकलने की प्रेरणा देगी पुस्तक ए ब्यूटी बाई इट्स ब्लू रिफलेक्शन

10:13 pm or March 9, 2021
लड़कियों को दहलीज से बाहर निकलने की प्रेरणा देगी पुस्तक ए ब्यूटी बाई इट्स ब्लू रिफलेक्शन
भिंड से डॉक्टर रवि शर्मा
भिंड ९ मार्च ;अभी तक; जहां एक लड़की का ग्रामीण परिवेश में घर की दहलीज से बाहर निकलना मुश्किल होता है वहीं हिम्मती कुछ लड़कियां प्रोत्साहन पाकर ऊंचाइयों पर पहुंच रही हैं। ऐसी ही एक लड़की नीलिमा राजावत पुत्री टीकम सिंह राजावत न केवल खुद सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनी बल्कि दूसरी लड़कियों को ऊंचाइयों पर पहुंचने की प्रेरणा मिले इसलिए उन्होंने ए ब्यूटी बाई इट्स ब्लू रिफ्लेक्शन पुस्तक लिखी है।
यहां बता दें इस पुस्तक में 27 वर्षीय भारतीय लड़की की कहानी को लिखा है जिसने निम्न मध्यम वर्गीय परिवार में रहकर ग्रामीण परिवेश से सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने तक का सफर तय किया। इस दौरान जीवन में कई उतार- चढ़ाव आए, नीरसता व उदासी की भी स्थितियां बनी। लेकिन बिना निराश हुए लक्ष्य की ओर बढ़ती गई अंतत: सफलता ने कदम चूमने शुरू कर दिए।
इस किताब में कहीं- कहीं भाव विह्वल कर देने वाली स्थिति का उल्लेख भी है। जहां लड़की के जन्म को अभिशाप माना जाता है। वहां सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने तक का सफर प्रेरणादायी व जटिल परिस्थितियों से संघर्ष करने की प्रेरणा देता है। आज समाज में नारी अपना स्थान पाने को संघर्ष कर रही है उसे समाज में उच्च मानदंडों के साथ स्थापित करना लेखक उद्देश्य है। महिला दिवस पर पुस्तक का विमोचन होने का मूल उद्देश्य समाज में नारी क अस्तित्व व अस्मिता को रेखांकित करना है।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *