वन सम्पदा का दौहन कर वन भूमि पर अवैध कब्जा करने वाले आरोपी को जेल भेजा‘‘

नितिन गुप्ता

देवास २१ सितम्बर ;अभी तक; जिला अभियोजन अधिकारी राजेन्द्र खाण्डेगर ने बताया कि दिनांक 10.09.2020 को समय लगभग 1ः30 बजे दोपहर बाद वन अमला वन्य प्राणी अभ्यारण परिक्षेत्र खिवनी की बीट पटरानी के कक्ष क्रंमाक आर-215, मगरडोह नामक स्थान पर गये। मौके पर देखा कि वनक्षैत्र में एक व्यक्ति जिसके हाथ में कुल्हाडी थी, वह मौके पर वृक्षों से कटे ढूटों को आग से जला रहा था। वन अमले द्वारा घेरा बंदी कर उसको पकडने का प्रयाय किया गया। लेकिन आरोपी उन्हे दूर से देख कर कुल्हाडी जंगल में फेंककर जंगल में भाग गया। मौका निरीक्षण किया मौके पर करीब दो हेक्टर वन-भूमि में साजड वृक्ष के सुखे ढूट नग-04 व सागवान के सुखे ढूट नग-03 को जलाने का काम किया जा रहा था। मौके पर कुल्हाडी नग-01 जप्त की गई, घटना स्थल का चारो तरफ घुम कर निरीक्षण किया तो पाया कि आरोपी द्वारा उक्त भूमि में पालवा तराषी कर, ढूटों को जलाकर, पत्थरो को खोदकर पत्थरों की पाल बनाई गई एवं उक्त स्थल पर एक छोटी झोपडी बनाई गई। मौके पर उपस्थित गवाह चंपालाल व जगदीष दोनों ने आरोपी को पहचान लिया था। गवाह ने आरोपी का नाम मालसिंह पिता सिलदार निवासी छोटी खिवनी बताया। आरोपी का कृत्य वन प्रा0 अधिनियम 1972 की धारा 2(15),27,30,31 भादवि वन अधि0 1927 की धारा के तहत व जैव विविधता अधिनियम की धारा 2(ग),3,7,55,58 के अंर्तगत पाया गया। अतः आरोपी मालसिंह पिता सिलदार के विरूद्ध  अपराध पंजीबद्ध कर आरोपी को गिरफ्तार किया।

आरोपी को न्यायालय न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी तह. खातेगांव के समक्ष पेश किया गया। जहां शासन की ओर से एडीपीओ श्री रमेश कारपेन्टर द्वारा वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से दिए गये तर्को से सहमत होकर आरोपी मालसिंह पिता सिलदार निवासी छोटी खिवनी खुर्द ग्राम पटरानी तहसील खातेगांव जिला देवास को जेल भेजा।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *