वन स्‍टेशन-वन प्रोडक्‍ट’ योजना के सातवें फेज में रतलाम मंडल के 26 स्‍टेशन शामिल 

2:37 pm or August 2, 2022
‘महावीर अग्रवाल
मन्दसौर २ अगस्त ;अभी तक;  स्‍थानीय उत्‍पादों को आम जनता के मध्‍य प्रचारित करने के लिए वर्ष 2022-23 के सामान्‍य बजट में घोषित ‘वन स्‍टेशन-वन प्रोडक्‍ट’के पायलेट प्रोजेक्ट को भारतीय रेलवे लागू किया गया है। इसके तहत भारतीय रेलवे संबंधित स्‍टेशन के आस-पास के स्‍थानीय उत्‍पादों को प्रमोट करने के लिए 15 दिवसीय पायलट प्रोजेक्‍ट का प्रथम चरण का शुभारंभ 25 मार्च, 2022को किया गया। इस पायलट प्रोजेक्‍ट को और प्रभावशाली बनाने के लिए ‘वन स्‍टेशन वन प्रोडक्‍ट’ योजना को विभिन्‍न फेजों के तहत विस्‍तार किया जा रहा है जिससे अधिक से अधिक संस्‍था/संगठन को इसका लाभ मिल सके। इस योजना का अगला एवं सातवां फेज 07 अगस्‍त, 2022 से आरंभ हो रहा है जो 21 अगस्‍त , 2022 तक रहेगा।
                              अभी तक विभिन्‍न फेजों में रतलाम मंडल के इंदौर, उज्‍जैन, देवास, रतलाम, दाहोद, शुजालपुर, चित्‍तौड़गढ़, नीमच, मंदसौर, मेघनगर, नागदा स्‍टेशनों पर कुल 27 स्‍टॉल लगाए जा चुके हैं। इनमें विभिन्‍न संस्‍थाओं द्वारा स्‍थानीय खानपान के सामान, हैंडिक्राफ्ट, हैंडलूम, स्‍थानीय कलाकृतियॉं, स्‍थानीय खिलौने, चमडे का सामान, स्‍थानीय पोशाक, पारंपरिक उपकरण/सामान, प्रसंस्‍कृत/अर्द्ध प्रसंस्‍कृत फुड आयटम सहित अन्‍य वस्‍तुओं का स्‍टॉल लगाया गया जिसका संबंधित स्‍टेशन के यात्रियों का काफी सराहनीय प्रतिसाद मिला। रेलवे द्वारा इसकी सफलता को देखते हुए 07 अगस्‍त, 2022 से सातवें फेज का  आरंभ किया जा रहा है जिसमें इच्‍छुक संस्‍था/संगठन इस योजना में भागीदार बन सकते हैं।
                             इस योजना के तहत स्‍वयं सहायता समूह या स्‍थानीय संगठन द्वारा अपने उत्‍पादों का विवरण देकर स्‍टेशन पर 15 दिनों के लिए स्‍टॉल लगा सकता है । इसमें रजिस्‍ट्रेशन के रूप में उन्‍हें मात्र 1000/- रेल प्रशासन के पास जमा करने होंगे। इस योजना में स्‍थानीय खानपान के सामान, हैंडिक्राफ्ट, हैंडलूम, स्‍थानीय कलाकृतियॉं, स्‍थानीय खिलौने, चमडे का सामान, स्‍थानीय पोशाक, पारंपरिक उपकरण/सामान, प्रसंस्‍कृत/अर्द्ध प्रसंस्‍कृत फुड आयटमसहित अन्‍य वस्‍तुएं जो उस विशिष्‍ट क्षेत्र से संबंध रखते है, को शामिल किया गया। इस योजना के अंतर्गत सामग्री/उत्‍पाद के विक्रय के लिए आवेदक या विकास आयुक्‍त हस्‍तशिल्‍प/विकास आयुक्‍त हथकरघा या केन्‍द्र सरकार द्वारा जारी कारीगर/ विवर कार्ड धारक/ट्राईफेड में पंजीकृत कारीगर/बुनकर/शिल्‍पकार या स्‍वयं सहायता समूह में पंजीकृत या एम.एस.एम.ई. में पंजीकृत होना चाहिए।
                            इस योजना के तहत इच्‍छुक व्यक्ति,  संस्‍था या स्‍वयं सहायता ग्रुप संबंधित रेलवे स्‍टेशन के स्‍टेशन प्रबंधक को अपना आवेदन पत्र प्रस्‍तुत कर सकते हैं।  इस प्रकार के स्‍टॉल लगाने के लिए रजिस्‍ट्रेशन शुल्‍क के अतिरिक्‍त किसी प्रकार का अन्‍य शुल्‍क नहीं है।