वाघा बार्डर की सैर करने रवाना हुई 4 बालिकाएं, माँ तुझे सलाम योजना के तहत विभाग ने भिजवाया

9:58 pm or May 1, 2022

मयंक भार्गव

बैतूल एक मई ;अभी तक;  बालिकाओं में देश भक्ति का जुनून पैदा करने ओर देश की सीमा से अवगत कराने के लिए माँ तुझे सलाम योजना के अंतर्गत जिले की चार बालिकाओं को बाघा बार्डर के लिए भेजा गया है। यह बालिकाएं 7 मई को वापस बैतूल आएंगी।

महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी संजय जैन ने बताया कि प्रदेश में महिला बाल विकास विभाग द्वारा 2 मई से 11 मई तक लाड़ली उत्सव मनाया जा रहा है। इस  कार्यक्रम में खेल एवं युवा कल्याण के माँ तुझे प्रणाम योजना के तहत लाड़ली लक्ष्मी योजना में पंजीकृत जिले की 4 बालिकाओं कुमारी मोनिका, कुमारी पल्लवी, कुमारी अलीना एवं कुमारी हिया को अभिभावकों की सहमति से रविवार 1 मई को भारत की अंतरराष्ट्रीय सीमा वाघा हुसैनीवाला अमृतसर पंजाब की अनुभव यात्रा पर भ्रमण हेतु भेजा गया। 1 मई को  जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास बैतूल की उपस्थिति में बालिकाओं को संभाग स्तर तक दो अनुभवी पर्यवेक्षक श्रीमती गुंता उइके एवं श्रीमती भुवनेश्वरी मालवीय के साथ निजी वाहन से भेजा गया है। बालिकाएं 2 मई को दोपहर 3:30 बजे भोपाल से अमृतसर दादर एक्सप्रेस से अंतर्राष्ट्रीय सीमा वाघा हुसैनीवाला की ओर भ्रमण हेतु प्रस्थान करेंगी एवं 7 मई 2022 को बैतूल वापस आएंगी।