विद्युत फेडरेशन के प्रयास  से विद्युत दुर्घटना में मृत कर्मचारी की पत्नी को ईएसआईसी की ओर से मिलेगी मासिक पेंशन

महावीर अग्रवाल
मन्दसौर ३ अक्टूबर ;अभी तक; विद्युत फेडरेशन के प्रयास से विद्युत दुर्घटना में निधन हुए एक परिवार के परिजनों को ईएसआईसी व ईपीएफ के तहत आर्थिक सहायता उपलब्ध करवाई गई। साथ ही ईएसआईसी द्वारा दिवंगत की पत्नी कोे ईपीएफ की ओर से 6600 रू. मासिक पेंशन भी प्राप्त होगी।
श्री पर्वतसिंह पिता घीसुसिंह सोंधिया राजपूत गरोठ डिवीजन में आउटसोर्स लेबर के रूप में कार्यरत थे जिनका 23 मई 2019 को विभागीय कार्य करने के दौरान घातक विद्युत दुर्घटना घटित हो जाने के कारण निधन हो गया था। विद्युत फेडरेशन ने घटना दिनाँक से ही कंपनी प्रबंधन को पत्र लिखकर निष्पक्ष जांच व पीड़ित परिवार को दुर्घटना दावा व परिवार पेंशन हेतु मांग रखी थी। मंदसौर वृत के अधीक्षण अभियंता श्री मनोज शर्मा सर ने इस प्रकरण में पूर्ण रूप से सकारात्मक सहयोग कर सर्वप्रथम विद्युत कम्पनी की ओर से रुपए 4 लाख दुर्घटना सहायता राशि भुगतान करवाई तथा आउटसोर्सिंग कम्पनी प्राइम वन के माध्यम से ईएसआईसी व ईपीएफ के दावे भुगतान व पेंशन भुगतान के प्रकरण बनवाकर प्रेषित करवाये।
             कम्पनी प्रबंधन व फेडरेशन के सकारात्मक प्रयास के बदौलत मृतक पर्वत सिंह की पत्नी श्रीमती संतोष बाई व उनके दोनों नाबालिग पुत्र श्री जसवंत सिंह व महेंद्र सिंह को ईएसआईसी की ओर कुल 222 रुपये प्रतिदिन की दर से परिवार पेंशन स्वीकृत की गई व ईपीएफ की ओर से 96000 रूपये का भुगतान किया गया। इस प्रकार पीड़ित परिवार को रु 6660 मासिक पेंशन प्राप्त होगी।
               विद्युत फेडरेशन प्रदेश के सभी पदाधिकारियों व आउटसोर्सिंग कर्मचारियों से अनुरोध करता है कि ईएसआईसी व ईपीएफ की सुविधा से सभी को अवगत कराने का कष्ट करें तथा प्रदेश में घटित इस प्रकार की घटनाओं को उक्त पेंशन सुविधा स्वीकृत करवाने हेतु आवश्यक सहयोग प्रदान करें। पीड़ित परिवार को पेंशन स्वीकृति व दुर्घटना दावा भुगतान करने के लिए विद्युत फेडरेशन श्री मनोज शर्मा अधीक्षण अभियंता मंदसौर व कम्पनी प्रबंधन के सभी सम्बन्धित अधिकारी व कर्मचारियों का धन्यवाद ज्ञापित करता है एवम अपेक्षा करता है कि कर्मचारियों से सम्बंधित सभी प्रकरणों का निराकरण समय सीमा में करते रहेंगे।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *