विधायक व नपाध्यक्ष ने नपा परिषद् के द्वारा स्वीकृत 117 नामांतरण व लीज अवधि स्वीकृति पत्रकों का वितरण किया

8:52 pm or September 17, 2020
विधायक व नपाध्यक्ष ने नपा परिषद् के द्वारा स्वीकृत 117 नामांतरण व लीज अवधि स्वीकृति पत्रकों का वितरण किया
महावीर अग्रवाल
 मन्दसौर १७ सितम्बर ;अभी तक;  नपा परिषद् मंदसौर के द्वारा गुरूवार को नपा सभागृह में नामांतरण व लीज अवधि बढ़ाने के पत्रों का वितरण किया गया। नपा परिषद् अध्यक्ष श्री राम कोटवानी के प्रयासों के कारण नामांतरण व लीज अवधि बढ़ाने के प्रकरणों को तेजी से स्वीकृतियां मिल रही है। बुधवार को 513 नामांतरण स्वीकृति पत्रक बाटने का कार्य शुरू किया गया था।
            इसी प्रकार गुरूवार को विघटितनगर सुधार न्यास (विकास शाखा) से संबंधित 50 नामांतरण स्वीकृति पत्रक 67 लीज अवधि बढ़ाने के पत्रकों का वितरण शुरू किया गया। ऋषियानंद नगर, इन्द्रा नगर के भूखण्ड के स्वामियों को अपनी लीज अवधि व नामांतरण प्रकरणों की स्वीकृति का इंतजार था। नपाध्यक्ष श्री कोटवानी की परिषद् के द्वारा इन 117 प्रकरणों को स्वीकृति दी गई है। कल गुरूवार को इन्हीं स्वीकृति पत्रकों का वितरण विधायक श्री यशपालसिंह सिसौदिया के मुख्य आतिथ्य व नपाध्यक्ष श्री राम कोटवानी की अध्यक्षता में आयोजित कार्यक्रम में किया गया। कार्यक्रम में नपा उपाध्यक्ष श्री सुनील जैन महाबली, भाजपा मण्डल के पूर्व अध्यक्ष श्री नरेश चंदवानी, नपा राजस्व समिति सभापति श्रीमती रेखा राजेश सोनी ऐरावाला भी मंचासीन थे।
               विधायक श्री सिसौदिया ने इस अवसर पर कहा कि अविवादित नामांतरण प्रकरणों का निराकरण समय सीमा में होना चाहिए। बहुत ही प्रसन्नता की बात है कि रामजी कोटवानी की परिषद् इस दिशा में काम कर रही है और लम्बित नामांतरण प्रकरणों को स्वीकृति देने हेतु प्रयासरत है। आपने कहा कि विरोधी राजनीतिक दल के पार्षद नामांतरण मामले में अनावश्यक रूप से बयानबाजी कर रहे है। नामांतरण प्रकरण यदि समय सीमा में निपटे तथा लोगों को लाभ हो इसमें अकारण विरोध नहीं करना चाहिये। अविवादित नामांतरण प्रकरणों की स्वीकृति में अडंगा डालने का काम यदि होता है तो इससे आम लोगों के हित प्रभावित होते है। आपने कहा कि मैं नपाध्यक्ष श्री कोटवानी के प्रयासों की सराहना करता हूॅ। जिन्होनंे इस दिशा में सोचा और लोगों को नामांतरण की स्वीकृति होने के बाद उन्हें बुलाकर नामांतरण पत्रक देने हेतु शुरूआत की है।
               नपाध्यक्ष श्री कोटवानी ने कहा कि कांग्रेस के कुछ पार्षद नामांतरण प्रकरणों की स्वीकृति होने के बाद अनावश्यक रूप से विरोध कर रहे है। यदि आम लोगों को बुलाकर उन्हें नामांतरण स्वीकृति पत्रक दिये जा रहे है तो इसमें अनुचित जैसा क्या है? कांग्रेस मंदसौर नगर में जनहित व अच्छे कार्यों का भी विरोध करने  लगी है। आपने कहा कि आगामी समय में नपा में जितने भी अविवादित नामांतरण प्रकरण पेडिंग है उन्हें निराकरण करने की पहल की जायेगी तथा लोगों को नपा कार्यालय बुलाकर नामांतरण स्वीकृति के पत्रक सौंपे जायेंगे। सवा साल में जिन लोगों ने नपा में नामांतरण प्रकरण स्वीकृत नहीं किये वे ही लोग अब नामांतरण स्वीकृति के मामलों में बयानबाजी कर भ्रम फैलाने का काम कर रहे है। लगता है कि उन्हें अपना वोट बैंक खिसकते हुए नजर आ रहा है।
कार्यक्रम में नपा उपाध्यक्ष श्री सुनील जैन महाबली ने भी अपने विचार रखे। कार्यक्रम में पार्षद प्रतिनिधि अशोक कर्नावट, पूर्व पार्षद शेहजाद पटेल, नपा अधिकारीगण, कर्मचारीगण एवं श्री विजय मांदलिया, शरद जैन, सत्यनारायण भाट, मिल्की तिवारी, अजय मारोठिया भी उपस्थित थे।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *