विधिक साक्षरता शिविर आयोजित कर लाड़ली लक्ष्मी व अन्य योजनाओं का लाभ प्रदान किया

9:20 pm or October 11, 2021
विधिक साक्षरता शिविर आयोजित कर लाड़ली लक्ष्मी व अन्य योजनाओं का लाभ प्रदान किया
महावीर अग्रवाल 
मंदसौर ११ अक्टूबर ;अभी तक;         राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण, नई दिल्ली एवं म.प्र. राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जबलपुर के दिशा-निर्देशानुसार दिनांक 02.10.2021 से 14.11.2021 तक आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम के अनुक्रम में माननीय प्रधान जिला न्यायाधीश/अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, मंदसौर श्री विजय कुमार पाण्डेय के दिशानिर्देशानुसार व सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण मंदसौर श्री रईस खान के मार्गदर्शन में दिनांक 11.10.2021 को ग्राम नलखेड़ा, तहसील विधिक सेवा समिति गरोठ, जिला मंदसौर में अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर विधिक साक्षरता शिविर व मेले का आयोजन किया गया साथ ही विभिन्न ग्रामीण क्षेत्रों में आम लोगों को कानून के प्रति जागरूक किये जाने हेतु विधिक साक्षरता शिविर एवं विभिन्न प्रकार की गतिविधियां भी आयोजित की गई।
उपरोक्त विधिक जागरूकता कार्यक्रम तहसील विधिक सेवा समिति गरोठ के अपर जिला न्यायाधीश/अध्यक्ष श्री उत्सव चतुर्वेदी की अध्यक्षता में किया गया। कार्यक्रम के शुभारंभ में ग्राम नलखेड़ा में प्रभात फेरी निकाली गई जिसमें विभिन्न योजनाओं संबंधी तख्तियों व पेम्प्लेट्स के माध्यम से जागरूकता प्रसारित की गई। कार्यक्रम स्थल पर जनपद विभाग, राजस्व विभाग, उद्यानिकी विभाग, कृषि विभाग, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग, वन विभाग, महिला बाल विकास विभाग, शिक्षा विभाग, स्वास्थ्य विभाग व सहकारिता विभाग संबंधी 11 स्टॉल लगाकर ग्रामीणजनों को उनकी योजनाआें से लाभांवित किया गया।
इस अवसर पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा निःशुल्क दवाई वितरित कर कोरोना संबंधी टीकाकरण भी किया गया। साथ ही महिला बाल विकास विभाग द्वारा लाड़ली लक्ष्मी योजना अंतर्गत 02 बालिकाओं को राशि रू. 1,18,000/- के प्रमाण पत्र प्रदान किये गये। शिक्षा विभाग की ओर से उपस्थित विभाग की ओर से निःशुल्क पुस्तकें व मध्यान्ह भोजन कार्यक्रम अंतर्गत सूखा अनाज प्रदान किया गया। कार्यक्रम में उपस्थित ग्रामीणजन द्वारा राजस्व विभाग से संबंधित अपनी समस्यायें अधिकारीगण के समक्ष रखी गई, जिनमें से कुछ समस्याओं का तत्काल निराकरण किया गया व शेष समस्याओं के निराकरण हेतु तहसीलदार को निर्देशित किया गया।
श्री कमलेश भरकुंदिया द्वारा ग्राम न्यायालय के संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि ग्राम न्यायालय के माध्यम से छोटे प्रकरणों को ग्राम स्तर पर ही निराकृत किया जाता है, इससे अनावश्यक खर्च होने वाले समय व धन की बचत होती है। साथ ही मध्यस्थता योजना, विवाद विहिन ग्राम योजना के संबंध में विस्तृत रूप से जानकारी दी। उपस्थित न्यायाधीश द्वारा अंतराष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर कन्या भ्रूण हत्या, पाक्सो अधिनियम, घरेलु हिंसा से महिलाओं का संरक्षण अधिनियम एवं नशा मुक्ति संबंधी कानूनों पर प्रकाश डाला।
उपरोक्त शिविर में कृषि विभाग के अधिकारीगणों द्वारा ग्रामीणजनों को बताया कि कृषि में किटनाशक एवं खाद का उपयोग किस तरह किया जाना चाहिये। साथ ही वन विभाग द्वारा उपस्थित ग्रामीणजनों को फलदार पौधे वितरित किये गये एवं उपस्थित विभिन्न विभागों के अधिकारीगण द्वारा अपने विभाग से संबंधित योजनाओं से ग्रामीणजनों को विस्तारपूर्वक जानकारी दी गई। जागरूकता शिविर/मेले के दौरान न्यायाधीशगण, उपखण्ड अधिकारी, तहसीलदार, जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी, पटवारी, थाना प्रभारी गरोठ, सरपंच, सचिव एवं न्यायिक कर्मचारी व बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित रहे।
उपरोक्त अभियान के अनुक्रम में दिनांक 11.10.2021 को जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान, मंदसौर में विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया। उपरोक्त शिविर में जिला विधिक सहायता अधिकारी श्री योगेश बंसल द्वारा राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण, नई दिल्ली व म.प्र. राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जबलपुर एवं शासन द्वारा जनहित में संचालित विभिन्न प्रकार की योजनाओं से अवगत कराया। शिविर में उपस्थित पैनल अधिवक्ता श्री शिवरमनसिंह पंवार द्वारा विधिक सहायता हेतु हकदार व्यक्तियों की जानकारी देते हुए बताया कि विधिक सेवा प्राधिकरण का प्रमुख उद्देश्य पंक्ति में खड़े व्यक्ति तक न्याय प्राप्त करना है। कार्यक्रम का संचालन संस्थान के व्याख्याता श्री आर.डी. जोशी द्वारा किया जाकर आभार श्री अशोक धनोतिया द्वारा माना गया।
जागरूकता गतिविधियों के परिपालन में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा पैरालीगल वालेंटियर्स की तैयार की गई टीमों द्वारा ग्राम अधोरिया, अमलावद, राजाखेड़ी, सेजपुरिया, खिलचीपुरा, सिंदवन, जैपुरा, ताजखेड़ी, नालछा, ठिकोला, मजेसरी, ढाबला, निम्बोद, भुनियाखेड़ी, तलाबपिपलिया, चंदाखेड़ी, माल्याखेड़ी, काचरिया कदमाला, तखतपुर, दिलवारा, रणायरा, चांदखेड़ी, भर्डावद, पाड़लियामारू, पिपलिया कराड़िया, खोड़ाना, अचेरी, पलासिया, खजुरिया सारंग इत्यादि ग्रामों में जाकर ग्रामवासियों को राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण, नई दिल्ली एवं म.प्र. राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जबलपुर द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं व कानून के प्रति जागरूक करने के लिए विद्यालयों, ग्राम पंचायत भवन व ग्रामीणजनों के बीच जाकर डोर-टू-डोर अभियान एवं विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया। साथ ही ग्रामीणजनों की विभिन्न समस्याओं को भी सुनकर उक्त समस्याओं के निदान हेतु आवश्यक सलाह प्रदान की गई। पैरालीगल वालेंटियर्स द्वारा उपरोक्त डोर-टू-डोर अभियान एवं विधिक साक्षरता शिविरों में पेम्प्लेट्स इत्यादि वितरित किए गए।
उपरोक्त तैयार की गई पैरालीगल वालेंटियर्स की टीम में श्रीमती रामकुंवर राठौर, श्रीमती बिंदिया मसानिया सुश्री हूरबानो सैफी, श्री आदिल हुसैन, श्री शिवम गुप्ता, श्री फारूख हुसैन, श्री वसीम खान, श्री बद्रीलाल चौहान, श्री आबिद मेव द्वारा अभियान अंतर्गत विभिन्न ग्रामों में जाकर ग्रामीणवासियों को निरंतर जागरूक करने का कार्य किया जा रहा है।

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *