विवादित जमीन के क्रय-विक्रय पर ऑन लाइन आपत्ति लगाने की व्यवस्था केवल छलावा,

6:25 pm or September 23, 2020
विवादित जमीन के क्रय-विक्रय पर ऑन लाइन आपत्ति लगाने की व्यवस्था केवल छलावा,
एस पी वर्मा
सिंगरौली २३ सितम्बर ;अभी तक;  उप पंजीयक कार्यालय सिंगरौली में विवादित जमीन के  क्रय-विक्रय पर अस्थायी रोक लगाने हेतु की गई ऑन लाइन शिकायत के बाद भी उप पंजीयक अधिकारी द्वारा  रजिस्ट्री कर शिकायत कर्ता के साथ  छलावा किया जा रहा है। शासन-  प्रशासन  द्वारा शुरू की गई ऑन लाइन आपत्ति व्यवस्था को उप पंजीयक अधिकारी सिंगरौली द्वारा ठेंगा दिखा  कर धड़ल्ले से रजिस्ट्री पर हस्ताक्षर कर रहे हैं। उप पंजीयक अधिकारी के इस कृत्य से जमीनी विवाद की संख्या में इजाफा हो रहा है।
         उप पंजीयक कार्यालय के छलावा के शिकार ग्राम ढोटी निवासी पन्नेलाल ने बताया कि उनकी ग्राम बलियरी में पैतृक जमीन है जिसका परिवार के अन्य हिस्सेदारो के साथ कागजी बटंवारा तो हो गया है, पर जमीन का आज तक सीमांकन नही हुआ। भू मालिक पन्नेलाल के अनुसार उन्होंने सहखाते की आराजी खसरा क्रमांक 79/1/2,  79/1/2/3 व 79 /1/2/13 के बिक्री पर रोक लगाने उप पंजीयक कार्यालय सिंगरौली में गत 15 सितंबर 2020 को दोपहर 3 बजे  ऑन लाइन आपत्ति दर्ज कराया था, जहाँ उप पंजीयक अधिकारी द्वारा आश्वासन दिया गया था कि उक्त नंबर की जमीनों का जब भी क्रय-विक्रय होगा आपको सूचित किया जाएगा, लेकिन ऐसा कुछ नही हुआ और  उप पंजीयक कार्यालय द्वारा आपत्ति कर्ता को अंधेरे में रख जमीन की रजिस्ट्री कर दी गयी।
*250 की कटती है रसीद, रजिस्टर में दर्ज होता है डिटेल्स*
गौरतलब हो कि  ऐसी जमीने  जिसके क्रय-विक्रय होने से दो पक्षो के बीच विवाद उत्पन्न होने की संभावना है  और ऐसे जमीन पर विधिवत तहसीलदार के यहां से स्थगन आदेश नही ले पा रहे हैं तो उप पंजीयक कार्यालय में जाकर आवेदन देकर विवादित जमीन के क्रय-विक्रय पर रोक लगा सकते हैं। स्थगन आदेश के विलंबता से बचने शासन के इससुविधाजनक  व्यवस्था का लाभ लेने आवेदक पन्नेलाल ने उप पंजीयक कार्यालय में जाकर पंजीयक अधिकारी को आवेदन दिया और नियमानुसार 250 रुपये का ऑन लाइन रसीद कटाया। जिसे बकायदे उप पंजीयक अधिकारी द्वारा मार्क कर आपत्ति आवेदन को संलग्न करवाया गया और स्वयं उप पंजीयक अधिकारी द्वारा आश्वासन दिया गया कि इस नंबर की जमीन की रजिस्ट्री बिना आपके उपस्थिति के नही होगी।
*22 सितंबर को हुई रजिस्ट्री,  आवेदक रजिस्ट्री रोकने कई बार किया निवेदन*
आवेदक पन्नेलाल के अनुसार 15 सितंबर को जिन आराजी खसरा नंबर की जमीनों पर आपत्ति दर्ज कराया था उन्ही नम्बर की जमीनों का 22 सितंबर को रजिस्ट्री होने की जानकारी प्राप्त  हुई है। इस सम्बंध में जब आवेदक द्वारा पुनः आपत्ति दर्ज कराया गया तो आवेदक को धोखे में रख कहा गया कि अभी इन नम्बरो के जमीनों की रजिस्ट्री नही हुई है। उप पंजीयक कार्यालय में ब्याप्त भ्रस्टाचार सहित शासन के  ऑन लाइन आपत्ति दर्ज कराने की  व्यवस्था पर लग रहे ग्रहण पर कलेक्टर सिंगरौली का ध्यान आकृष्ट कराया है।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *