वीपीएल: मंदसौर मारवरिक्स और मंदसौर इंडियन जीती

8:28 pm or January 15, 2023
महावीर अग्रवाल
मंदसौर १५ जनवरी ;अभी तक;  वात्सल्य प्रीमियर लीग को लेकर दर्शकों में खासा उत्साह बना हुआ है। बड़ी संख्या में दर्शक नूतन स्टेडियम पहुंचकर फ्लड लाईट में होने वाले मैच का लुफ्त ले रहे हैं।टूर्नामेंट के दूसरे दिन पहला मैच राज राईडर्स और मंदसौर मारवरिक्स के खिलाफ हुआ। जिसमें मंदसौर मारवरिक्स सात विकेट से विजयी रही। इसमें मारवरिक्स के मोहित एलाहवत ने शानदार गेंदबाजी करते हुए चार विकेट लिए। मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार  दीपक पुनिया को श्रीमती इंदु गनेड़ीवाल द्वारा दिया गया।

वहीं दूसरा मेच मंदसौर इंडियन और सफल इलेवन के बीच हुआ। जिसमें  मंदसौर इंडियन बीस रन से विजयी रही। इस मैच में दीपक पुनिया ने ६४ रनों की शानदार पारी खेली। उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया।
सबसे पहले बात करें पहले मैच की। जो राज राइडर्स और मंदसौर मारवरिक्स के बीच खेला गया। इस मैच में राज राइडर्स ने पहले बल्लेबाजी करते हुए १४८ रन बनाए। इसमें अजय रोहरा और सुमीत चिकारा ने ओपनींग में शानदार शुरुआत की। दोनों के बीच ५३ रनों साझेदारी हुई। लेकिन इसके बाद राज राइडर्स की पारी लडख़ड़ा गई। हालांकि मोहित झावा में चौथे नंबर पर आकर १७ गेंदों पर ४५ रनों की अच्छी बल्लेबाजी की। लेकिन बाकी बल्लेबाज मोहित एलाहवट और नवनीतसिंह की गेंदों को समझने में नाकाम रहे। मोहित एलाहवत ने तीन अवर में १६ रन देकर चार बल्लेबाजों को आउट किया। इसके बाद बल्लेबाजी करने उतरी मंदसौर मारवरिक्स की शुरुआत अच्छी रही। धु्रवसिंह और नवनीतसिंह के बीच ६८ रनों की साझेदारी हुई। धुवसिंह ने ३५ गेंदों पर नाबाद ७४ रन बनाए। वहीं नवनीतसिंह ने १७ गेंदों पर शानदार ४१ रनों की पारी खेली। इस तरह से तीन गेंद शेष रहते ही मंदसौर मारवरिक्स ने लक्ष्य को भेद लिया।
दूसरा मैच मंदसौर इंडियन और सफल इलेवन के बीच हुआ। इसमें मंदसौर इंडियन ने पहले बल्लेबाजी करते हुए सफल इलेवन को १२९ रनों का लक्ष्य दिया। अर्पित गौड के रूप में १५ रन पर पहला विकेट गिरने के बाद सिद्धार्थ पाटीदार और पार्थ साहनी के बीच बडी साझेदारी हुई। दूसरा विकेट १०८ रन पर गिरा। लेकिन तब तक ११ अवर हो चुके थे। पूरे मैच में मंदसौर इंडियन के गेंदबाजों ने सफल इलेवन के बल्लेबाजों को बांधे रखा। इसके पहले मंदसौर इंडियन की बल्लेबाजी की बात करें तो दीपक पुनिया ने शानदार २८ गेंद पर ६४ रन की नाबाद पारी खेली। जिसकी बदौलत मंदसौर इंडियन १२९ रनों तक पहुंची। जबकि एक समय मंदसौर इंडियन ३३ रन पर चार विकेट खो चुकी थी।