वृद्धाआश्रम एवं विक्षिप्त महिला आश्रय गृह, मंदसौर में विधिक साक्षरता शिविर सम्पन्न

7:55 pm or November 6, 2021
महावीर अग्रवाल 

मन्दसौर 6 नवंबर ;अभी तक ;      राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण, नई दिल्ली एवं म.प्र. राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जबलपुर के दिशा-निर्देशानुसार दिनांक 02.10.2021 से 14.11.2021 तक आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम के अनुक्रम में माननीय प्रधान जिला न्यायाधीश/अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, मंदसौर श्री विजय कुमार पाण्डेय के मार्गदर्शन में दिनांक 06.11.2021 को स्थान वृद्धाआश्रम एवं विक्षिप्त महिला आश्रय गृह, जिला मंदसौर में विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया।
उपरोक्त कार्यक्रम में श्री मो. रईस खान जिला न्यायाधीश/सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण मंदसौर ने उपस्थित वृद्धजनों को माता-पिता एवं वृद्धजनों के कल्याण एवं भरण-पोषण हेतु कानूनां की जानकारी प्रदान की। साथ ही दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा 125 अंतर्गत प्रावधानों से अवगत कराते हुए वर्णित किया कि इस धारा के अंतर्गत माता-पिता अपने पुत्र व पुत्री दोनों से ही भरण-पोषण प्राप्त करने के अधिकारी हैं। तत्पश्चात् श्री खान द्वारा उक्त वृद्धाश्रम का निरीक्षण किया एवं वृद्धजनां से वार्तालाप की गई। इसी अवसर पर लावारिस महिला आश्रय गृह एवं पुनर्वास केंन्द्र, मंदसौर का भी निरीक्षण किया गया। अंत में वृद्धजन एवं महिला आश्रय गृह एवं पुनर्वास केन्द्र में उपस्थित विक्षिप्त महिलाओं को फल वितरित किये गये।
उपरोक्त शिविर के दौरान श्री जिला न्यायाधीश/सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, मंदसौर श्री रईस खान, मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट श्री आशीष प्रताप सिंह, वृद्धाश्रम प्रबंधक श्रीमती प्रियंका, सुश्री कृष्णा बैरागी, लावारिस महिला आश्रय गृह एवं पुनर्वास केन्द्र की प्रबंधक श्रीमती अनामिका जैन, श्रीमती रीना कुमावत, जिला विधिक सहायता अधिकारी श्री योगेश बंसल, श्री अवधेश कुमार दीक्षित, श्री होत्तमसिंह गुर्जर, श्री अंतराम मार्को इत्यादि उपस्थित रहे।
इसी अनुक्रम में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के पैरालीगल वालेंटियर्स एवं पंचायत सचिवों की टीमों द्वारा ग्राम ग्राम खोखरा, निनोरा, खखरई, बालागुढ़ा, सेमली, सनावदा, कन्घट्टी, अमरपुरा, जेतपुरा, सोनी, बरखेड़ा पंथ, सुठोद, मल्हारगढ़, पाहेड़ा, नारायणगढ़, बरूजना, रिच्छा, मुन्देड़ी इत्यादि स्थानों में जाकर आमजन को राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण, नई दिल्ली एवं म.प्र. राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जबलपुर द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं व कानून के प्रति जागरूक करने के लिए विद्यालयों, ग्राम पंचायत भवन व ग्रामीणजनों के बीच जाकर डोर-टू-डोर अभियान एवं विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया। साथ ही ग्रामीणजनों की विभिन्न समस्याओं को भी सुनकर उक्त समस्याओं के निदान हेतु आवश्यक सलाह प्रदान की गई। डोर टू डोर अभियान एवं विधिक साक्षरता शिविरो में पेम्प्लेट्स इत्यादि वितरित किए गए।