व्यापक स्तर पर डोर टू डोर सर्वे एवं मेडिकल किट का वितरण जारी

सौरभ तिवारी
होशंगाबाद एक मई ;अभी तक;  कोरोना संक्रमण के प्रभावी रोकथाम एवं कोविड मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए जिला प्रशासन द्वारा मिशन मोड में काम किया जा रहा है । डोर-टू-डोर सर्वे के माध्यम से संदिग्ध व्यक्तियों की पहचान की जा रही है, वहीं संक्रमित को होम क्वारेंटाइन  करना और मेडिकल किट (दवाईया एवं काढ़ा) उपलब्ध कराने के साथ ही लोगों को जागरूक भी किया जा रहा है। जिले के विकासखंड सोहागपुर  में डोर-टू-डोर सर्वे, मेडिकल किट वितरण, सेनेटाइजेशन युद्ध स्तर पर जारी है।
               62 ग्राम पंचायत एवं 140 गांव वाले जनपद पंचायत सोहागपुर  में वर्तमान में कोरोना से निपटने के लिए चिकित्सकीय एवं अन्य विभागों की टीम मैदानी स्तर पर काम कर रही हैं। प्रत्येक ग्राम में डोर-टू-डोर सर्वे किया जा रहा है, ताकि सर्दी जुकाम से पीड़ित व्यक्तियों को इलाज मुहैया कराया जा सके, साथ ही कोरोना के संदिग्ध व्यक्ति को चिन्हांकित किया जा सके। इसके साथ ही कोरोना संक्रमितों को मेडिकल किट दवाईयों के उपयोग हेतु मार्गदर्शन पंपलेट तथा घर में रखी जाने वाली सावधानियां संबंधी समझाईश दी जा रही है। गांवों को सेनेटाइज किया जा रहा है और मुनादी के माध्यम से लोगों को जागरूक किया जा रहा है। यही नहीं मैदानी टीम के अलावा अन्य वरिष्ठ कर्मचारी और अधिकारियों द्वारा गांवों का भ्रमण कर क्वारंटाइन सेंटर एवं अन्य सुविधाओं का जायजा लिया जा रहा है।
             उक्त टीमें ग्राम के प्रत्येक व्यक्ति एवं परिवार पर नजर रखे हुए हैं, ताकि किसी भी तरह कोरोना संक्रमण को रोका जा सके। जनपद पंचायत क्षेत्रान्तर्गत करीब प्रत्येक ग्राम में संक्रमित एवं चिन्हांकित संदिग्ध व्यक्तियों को होम क्वारंटाइन किया जा रहा है तथा शासन द्वारा प्रदत्त मेडिकल किट उपलब्ध करायी जा रही है। संदिग्धों की जांच भी की जा रही है, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि व्यक्ति सिर्फ सर्दी-खांसी से पीड़ित है अथवा कोरोना से।
                   सोहागपुर सीईओ राम सोनी द्वारा लगातार ग्रामीण क्षेत्रों का भ्रमण कर कोरोना नियंत्रण के लिए संचालित गतिविधियों की मॉनिटरिंग की जा रही है और ग्रामीणों को  संक्रमण से बचाव के लिए आवश्यक समझाइश भी दी जा रही है। उन्होंने बताया कि विकासखंड सोहागपुर की सभी 62 ग्राम पंचायतों में ग्रामीणों द्वारा स्वप्रेरणा से जनता कर्फ्यू का पालन कर गांव की सीमाओं को सील किया गया है।
000