शहर कांग्रेस ने स्वस्थ्य हुए,मृत हुए मरीजों के नाम पते सहित जानकारी सूचना के अधिकार में मांगी

महावीर अग्रवाल
मन्दसौर  ७ जून ;अभी तक;  कोविड 19 की दूसरीं लहर में मन्दसौर जिले में बड़ी संख्या में असमय लोग काल के गाल में समा गए लेकिन उनके परिजन कोविड 19 से मृत्यु को प्रमाणित करने के लिए दर दर की ठोकरें खा रहे है। इसी क्रम में मन्दसौर शहर कांग्रेस कार्यकारी अध्यक्ष एवं अभिभाषक डॉ राघवेन्द्रसिंह तोमर ने मन्दसौर जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय एवं इन्दिरा गांधी जिला चिकित्सालय मन्दसौर के सिविल सर्जन सह अस्पताल अधीक्षक कार्यालय में सूचना के अधिकार अधिनियम 2005 अंतर्गत अलग अलग आवेदन प्रस्तुत कर जिले के सभी कोविड सेंटरों,चिकित्सालयों, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर 01 मार्च 2021 से 07 जून 2021 तक कोविड प्रोटोकॉल अंतर्गत उपचार हेतु भर्ती हुए मरीजों के नाम व पते,उपचार के बाद स्वस्थ्य हुए मरीजों के नाम व पते,उपचार के दौरान इन सभी स्थानों पर मृत मरीजों के नाम व पते तथा इन कोविड सेन्टरों/चिकित्सालयों/प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों एवं अन्य स्थानों पर उन सब मृत मरीजों के नाम व पते जिनको कोविड प्रोटोकॉल में अंत्येष्टि हेतु मुक्तिधाम/कब्रिस्तान भेजा गया ।
                 डॉ तोमर ने जानकारी देते हुए बताया कि कोविड 19 से दूसरीं लहर में मृत लोंगों के आंकड़े सरकार द्वारा जानबूझकर छुपाए जा रहे है । सूचना के अधिकार की जानकारी मिलते ही उच्च न्यायालय इंदौर खंडपीठ में जनहित याचिका लगाई जाएगी ताकि सभी मृत नागरिकों के परिजनों को सरकार की वांछित सहायता मिल सके ।