शहर में ज्यादा डेंगू फैलाने के लिए नगरपालिका जिम्मेदार _ सांसद श्री गुप्ता

महावीर अग्रवाल
मंदसौर 10 सितंबर ;अभी तक;  सांसद श्री सुधीर गुप्ता की अध्यक्षता में जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति की बैठक सुशासन भवन स्थित सभागृह में शाम 5 बजे आयोजित की गई। बैठक के दौरान जिले में फैले डेंगू एवं कृषि विभाग की समस्या पर चर्चा की गई।
                   बैठक के दौरान सांसद श्री सुधीर गुप्ता द्वारा कहा गया कि शहर में सबसे अधिक डेंगू फैलने के लिए नगर पालिका मंदसौर जिम्मेदार है। नगर पालिका ने समय-समय पर साफ सफाई एवं दवाई छिड़काव पर ध्यान नहीं दिया। जिससे डेंगू अत्यधिक फैला। बैठक में डेंगू के अत्यधिक बढ़ने एवं लापरवाही के कारण बहुत नाराजगी व्यक्त की तथा इसके तुरंत नियंत्रण के लिए सख्त भी हुए। सांसद सुधीर गुप्ता द्वारा नगर पालिका और स्वास्थ्य अमले के द्वारा शहर में किए जा रहे प्रयास को नाकाफी बताया बल्कि उन्होंने कहा कि आज 1 माह से भी अधिक का समय हो जाने पर नगर पालिका और स्वास्थ्य विभाग कोई विशेष कार्यवाही नहीं कर पाया। कार्यवाही के तौर पर विभाग सिर्फ रजिस्टर पर खानापूर्ति करने का काम कर रहा है। उसी का परिणाम है कि आज प्रदेश में मंदसौर का नाम डेंगू को लेकर प्रमुखता से लिया जा रहा है। आज एक माह बाद भी लगातार डेंगू के मरीजों का इतने अधिक संख्या में आना चिंता का विषय के साथ ही प्रशासन की कमियां उजागर करता है। नगर पालिका इस और प्रमुखता से ध्यान दें। साथ ही स्वास्थ्य विभाग को निर्देशित किया कि इसकी रोकथाम के लिए संबंधित विभागों के साथ बैठकर एक कार्य योजनाएं बनाएं और उसे आमजन तक पहुंचाएं। डेंगू की जांच को लेकर भी मनमानी शुल्क वसूल करने को लेकर कलेक्टर से सख्ती से कार्रवाई करने की बात कही और कहा कि इस पर भी संबंधित संस्थानों के साथ बैठक कर आवश्यक दिशा निर्देश देने की जरूरत है। बैठक के दौरान गरोठ विधायक श्री देवी लाल धाकड़, पूर्व विधायक श्री राधेश्याम पाटीदार सहित दिशा समिति के सदस्य, कलेक्टर श्री गौतम सिंह, सीईओ जिला पंचायत श्री कुमार सत्यम, अपर कलेक्टर श्री आरपी वर्मा सहित बैठक से संबंधित जिला अधिकारी, कर्मचारी उपस्थित थे।
                 उन्होंने कहा कि रोगी कल्याण समिति को सक्रिय किया जाए। साथ ही रोगी कल्याण समिति एवं क्राइसिस मैनेजमेंट समिति की विशेष बैठक भी बुलाई जाए तथा दोनों का सहयोग भी लिया जाए। डेंगू का कैसे रोकथाम किया जा सकता है। इस संबंध में गांव-गांव व्यापक प्रचार-प्रसार हो। स्वच्छता के क्षेत्र में बेहतर से बेहतरीन काम होना चाहिए। शहरों के साथ-साथ हमें गांव में भी विशेष तौर पर ध्यान देने की जरूरत है। इस संबंध में सीईओ जिला पंचायत आवश्यक कार्यवाही करें। कृषि विभाग को निर्देश देते हुए कहा कि गिरदावरी कार्य पर विशेष तौर पर अच्छे से ध्यान दिया जाए। खरीफ की फसल के लिए खाद को लेकर कोई भी समस्या नहीं रहनी चाहिए। खाद बाजार में ब्लैक में न बिके इसके लिए विशेष तौर पर ध्यान दिया जाए। खेतों में आई अफलन के लिए आवश्यक निरीक्षण करें तथा जिन किसानों का नुकसान हुआ है। इस संबंध में कोई भी खेत बिना सर्वे नहीं रहना चाहिए। खेतों में पढ़ने वाले अनावश्यक किट को कैसे नियंत्रित किया जाए इसके लिए आवश्यक प्रचार-प्रसार गांव स्तर पर हो एवं समय पर हो।