शादी का झांसा देकर लोगों को लूटने वाले गिरोह के सदस्य पुलिस की गिरफ्त में

9:24 pm or August 24, 2020
शादी का झांसा देकर लोगों को लूटने वाले गिरोह के सदस्य पुलिस की गिरफ्त में

प्रेम वर्मा

राजगढ़ 24 अगस्त :अभी तक:जिले के पचोर थाना पुलिस दल को शादी का झांसा देकर लोगों से धोखाधड़ी कर रुपए ऐठने वाले एक गिरोह के साथियों को गिरफ्तार किया है। इसके साथ ही लूटेरी दुल्हन को भी गिरफ्तार कर लिया गया है।

               थाना प्रभारी डी पी लोहिया ने बताया कि 19 अगस्त 2020 को भोजपुरिया ( पचोर) के निवासी मोतीलाल जाटव द्वारा थाना पचोर पहुंचकर अपनी आपबीती सुनाई रिपोर्ट पर संज्ञान लेते हुए थाना प्रभारी द्वारा मोतीलाल को उसकी हर संभव मदद देने हेतु आश्वासन दिया गया, चूंकि मामला लूटेरी दुल्हन से संबंधित था तो मामले में तत्काल आरोपियों के विरूद्ध अपराध दर्ज कर जांच में लिया गया एवं एक दल का गठन किया गया,दल द्वारा तकनीकी सहायता प्राप्त कर मामले में अग्रिम विवेचना प्रारंभ की गई।

पूरा मामला कुछ इस प्रकार है कि मोतीलाल ने बताया कि 8 जून 20 को परफेक्ट मैच पांईट मैरिज ब्यूरो इन्दौर से मेरे पिता छगनलाल के पास मेरे रिश्ते के लिये फोन आया था, उन्होने फोन पर बताया कि लडकी वालो से पूरी बात हो गयी है, आप रिश्ते के लिये आ जाओ। फिर 22 जून 20 को मै तथा मेरे पिताजी छगनलाल व मेरी मम्मी मीनाक्षी तीनो परफेक्ट मेरिज ब्यूरो के कार्यालय गये थे और वही पर हमारी मुलाकात लडकी साधना, उसके जीजा गजेन्द्र व साधना की बडी बहिन ममता सिंह से हुई थी, और इन्हीं लोगों के सामने साधना से मेरी शादी की बात तय हो गई थी। साधना से शादी के बदले 260000 रूपये की बात हुई थी जो जो हमें देना थे तभी मेरे द्वारा मेरिज ब्यूरो वाले सचिन यादव तथा ममता सिह को नगद व चैक के माध्यम से कुल 260000 रूपये दिये गये थे, तदोपरांत पहले साधना से मेरी कोर्ट मेरिज हुई थी और साधना से शादी करके हम उसे हमारे घर पचोर ले आये थे, शादी के बाद 29 जून 20 तक मेरी पत्नी साधना मेरे घर भोजपुरिया ( पचोर) में रही, इसी बीच साधना का जीजा गजेन्द्र उसे लेने आया और साधना को अपने साथ लेकर पचोर से चला गया, शाम के समय मेरे द्वारा मेरी पत्नी साधना से बात करने के लिये गजेन्द्र को फोन लगाया तो उसका मोबाईल बंद आया। इसके बाद मैं व मेरे पापा व मम्मी साधना को लेने हेतु गजेन्द्र के बताये पते पर गये तो वहां पर कोई भी व्यक्ति नही मिला। पत्नी साधना की तलाश की गई तो जानकारी मिली की साधना पहले से ही शादी शुदा है, साधना ने मुझसे शादी करते समय पूर्व मे शादी करने वाली बात हमारे परिवार से छुपाई थी। इस तरह साधना ने मेरे से बेईमानी व कपटपूर्ण तरीके से शादी की गई। मेरे द्वारा काफी दिनों तक साधना व उसकी बडी बहिन ममतासिंह, साधना के जीजा गजेन्द्र व मेरिज ब्यूरो वाले सचिन यादव की तलाश की गई तो ये लोग वहां पर नही मिले, मोतीलाल की रिपोर्ट पर थाना पचोर में अपराध धारा 420, 495, 496, 34 भादवि का दर्ज कर जांच में लिया गया

प्रकरण की गम्भीरता को देखते हुये पुलिस अधीक्षक प्रदीप शर्मा द्धारा आरोपियों की तत्काल गिरफ्तारी हेतू निर्देशित किया गया, पुलिस दल द्वारा लगातार आरोपियों की इंदौर, देवास सहित उनके मिलने के अन्य संभावित स्थानो पर तलाश की गयी तभी मुखबिर से सूचना प्राप्त हुई कि आगरा- मुम्बई मार्ग पर ब्यावरा से सारंगपुर की तरफ एक टाटा इंडिका गाडी में एक चालक व दो महिलायें बैठी हैं तो संभवतया इस मामले की आरोपी हो सकती हैं, सूचना पर से पचोर पुलिस उदनखेडी पहुंच कर चौकी के सामने वाहन चैकिग करने लगे तभी उक्त कार आती हुई दिखी जिसे रूकवाया गया तो रोकते ही गाडी का चालक गाडी से निकलकर भाग गया, उसमे बैठी दो महिलाओ से पूछताछ की गयी जिन्होेने अपना नाम साधना सौलंकी (22) निवासी ग्राम उटावत ( धार) व ममता राजावत (31) निवासी कालंदी गोल्डा सिटी इन्दौर किराये का मकान बताया व भागने वाले व्यक्ति का नाम गजेन्द्र राजावत बताया उक्त महिलाओं द्वारा अपने गिरोह के सदस्यों के साथ मिलकर धोखाधडी से फर्जी शादी का प्रपंच रचकर कुछ दिन रूककर रुपये व जेवरात लेकर अपने साथियों के साथ फरार होने की घटना को अंजाम दिया था, इन महिलाओ तथा इनके साथियो द्वारा फर्जी शादी करके पैसा लेकर फरार हो जाने का पेशा बना रखा है उक्त महिलाओं को गिरफ्तार किया गया एवं वाहन को जप्त किया गया, शेष आरोपी गजेन्द्र राजावत व सचिन यादव की तलाश जारी है ।

पचोर पुलिस की तत्परता के चलते लूटेरी दुल्हन व उसके गिरोह मे शामिल दूसरी महिला ममतासिह को गिर. करने में निरीक्षक डी पी लोहिया, रामकैलाश दांगी, शशांक सिंह यादव व रवि कुशवाह द्वारा तकनीकी सहयोग दिया गया।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *