शासकीय सेवक के साथ मारपीट कर दस्तावेजो को नष्ट करने तथा जान से मारने की धमकी देने वाले आरोपी की जमानत याचिका नामंजूर*

महावीर अग्रवाल
 मन्दसौर / नागौद ६ नवंबर ;अभी तक; नागौद न्यायालय के द्वितीय अपर एवं सत्र न्यायाधीश श्री बी डी राठौर द्वारा थाना ऊँचेहरा के अपराध क्रमांक 343/20 धारा 294, 353, 332, 506 भादवि0 के तहत आरोपी रणधीर सिंह उर्फ बिल्लू सिंह परिहार थाना ऊँचेहरा जिला सतना का जमानत आवेदन आज दिनांक 06/11/2020 को निरस्त किया गया।
मध्य प्रदेश राज्य की ओर से अभियोजन अधिकारी श्री विनोद प्रताप सिंह ने समग्र आधारों पर आरोपी के जमानत आवेदन का विरोध किया।
सहायक मीडिया प्रवक्ता विनोद प्रताप सिंह के द्वारा बताया गया है कि, दिनांक 07/09/2020 को फरियादी कृषभूषण त्रिपाठी पिता श्री शिवदर्शन त्रिपाठी उम्र 30 वर्ष निवासी सतना हाल पटवारी हल्का नंबर 69 तहसील ऊँचेहरा थाना उपस्थित होकर इस आशय की लिखित रिपोर्ट दर्ज कराए कि जब वह राजस्व निरीक्षक श्री राजेश तिवारी के साथ रेस्ट हाउस मझकपा ऊँचेहरा गए हुए थे तब उनके फोन पर बिल्लू परिहार द्वारा अपने मोबाइल से फोन किया उस समय व्यस्तता के कारण  बाद मे फोन करने के लिए बोला उसके बाद बिल्लू परिहार के द्वारा उन्हें दोबारा फोन लगाया गया और उनके उठाते ही बुरी बुरी गालियां देने लगा जिस पर उनके द्वारा फोन काट दिया गया और अपना काम निपटा कर वापस ऊँचेहरा आ गए और अपने शासकीय कार्य के क्रम में आदर्श फोटोकॉपी की दुकान पर फोटोकॉपी कराने गए तो बिल्लू परिहार भी वहां आ गया बुरी बुरी गालियां देते हुए मेरी कॉलर पकड़ कर हाथ मुक्के से मारपीट करने लगा तथा शासकीय कागजात भी फाड़ दिए और बोला कि आज तो बाख गए अबकी बार जान से मार दूँगा जिसकी लिखित सूचना थाने में देकर कार्यवाही की मांग की थी।
जिस पर थाना ऊँचेहरा द्वारा कार्यवाही करते हुए अभियोग पत्र माननीय न्यायालय में पेश किया गया।
उक्त अपराध पर संज्ञान लेते हुए द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीश  द्वारा अपराध की गंभीरता को ध्यान में रखते हुए आरोप द्वारा उक्त धाराओं में प्रस्तुत जमानत आवेदन को आज दिनांक 06/11/2020 को नामंजूर कर दिया गया।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *