शासन की अनदेखी से आशा-उषा सहयोगिनी निराश

10:11 pm or June 25, 2021
शासन की अनदेखी से आशा-उषा सहयोगिनी निराश
महावीर अग्रवाल
मन्दसौर २५ जून ;अभी तक;  लम्बे समय से लम्बीत अपनी मांगों को लेकर आशा-उषा सहयोगिनी की हड़ताल जारी है। सरकार द्वारा आशा उषा सहयोगिनी की मांगों को अनदेखी करने से कार्यकर्ताओं में निराशा है। इसी को लेकर धंुधड़का ब्लॉक में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के नाम बीएमओ सतीश गौड़ को दिया गया।
ज्ञापन के दौरान उपस्थित सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी की तथा जल्द से जल्द मांगों के निराकरण का निवेदन किया। ज्ञापन में मांग की कि कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री से मांग की है कि  एक ओर आशा व उषा सहयोगिनी पूर्ण ईमानदारी से अपना कार्य 24 घण्टे कर रही है, अर्धरात्रि में प्रसव कार्य आ जाता है तो उसे तत्काल अस्पताल पहुंचाती है लेकिन आशा ऊषा सहयोगिनी कार्यकर्ताओं केा अत्यन्त कम मानदेय दिया जा रहा है। स्वास्थ्य संबंधित कई विभागों के दायित्वों का निर्वाह करने के बाद भी पद नाम एवं वेतनमान, सम्मान कुछ नहीं है, इससे हमें मानसिक, आर्थिक एवं सामाजिक रूप से पीड़ा होती है। हम हमारी मांग है कि हमें स्थाई किया जावे। नियत सेवाएं प्रदान की जाये। ए.एन.एम में पहला पात्रता अनुभवी आशा कार्यकर्ता को दी जावे। आरोग्य केन्द्र अलग से खोलने की व्यवस्था की जावे। सहयोगनी को केंद्र पर जाने के लिये अलग से खर्चा/भत्ता दिया जायें। आशा सहयोगिनी को 18 हजार व आशा उषा को 15 हजार रू. मासिक वेतन दिया जाये। आशा ऊषा जब प्रसव लेकर अस्पताल जाती है तो रात्रि में रुकने के लिये अलग से विश्राम गृह की व्यवस्था की जायें। दुर्घटना में मृत्यु होने पर 10 लाख रुपये की सहायता राशि व सामान्य मृत्यु पर 5 लाख रुपये की सहायता राशि दी जाये।
इस अवसर पर संगठन के संरक्षक श्याम सोनावत, जिलाध्यक्ष साधना सेन, जिला उपाध्यक्ष ममता बैरागी, कविता हलकारा, जिला कोषाध्यक्ष माया सोनावत, जिला महामंत्री ललिता बैरागी, सज्जन कुंवर, जिला संयुक्त सचिव कोमल जैन, जिला संगठन मंत्री श्रीमती शकुंतला अनुसुइया परमार, सलाहकार मंत्री मुन्ना बैरागी, शांति धाकड़, पुष्पा परमार, रेखा सांवलिया, चंचला मीणा, गायत्री चौहान, भुली बैरागी, संगीता असलिया, अंगुरबाला परमार, नीतु शर्मा, अरूणा प्रजापत, हेमलता दोसावत, संगीता माली, कारी पाटीदार, किरण बैरागी, देवकन्या, धापु राठौर, इन्द्र चौधरी, ममता बैरागी, बसंती परमेश्वरी धाकड,़ आरती रावत, संगीता राठौर, अनुसिया गमेतिया, चंद्रकला प्रजापत, शीला कमला खींची, संगीता मकवाना, दीप ज्योति, भागवन्ता कुमावत, इन्द्रा मीणा, शकुंतला मीणा, सुमित्रा मीणा, रेखा जोशी, सुशीला बैरागी, स्नेहलता धनगर, प्रेमलता देवड़ा, सोनू सेन, माया सेन, जमुना के साथ ही सैकड़ों मातृशक्ति उपस्थित रही।