शासन से धोखाधडी करने पर आरोपी की अग्रिम जमानत याचिका सत्र न्यायालय से निरस्त 

महावीर अग्रवाल

मदंसौर। ११ सितम्बर ;अभी तक;  प्रथम अपर सत्र न्यायधीश महोदय श्री एन.एस. बघेल सा0 मंदसौर के द्वारा आरोपी डाॅ. अशरफ पिता अनवर खां उम्र 44 साल नि0 नाटाराम तह0 सीतामउ जिला मदंसौर द्वारा प्रस्तुत अग्रिम जमानत आवेदन निरस्त कर दिया।
मीडिया सेल प्रभारी नितेश कृष्णन ने बताया कि मामला इस प्रकार है कि वर्ष 2015 में मंदसौर जिले मंे डोडाचूरा पीएस-2 लायसेंस की बोली लगी थी जिसमे लायसेंसी कैलाश ने टेंडर में उच्चतम बोली लगायी थी तथा उसे लायसेंस मिला था किन्तु उसके द्वारा दिये गये पोस्टडेटेड चैक बैंक में लगाने पर उसके खाते में अपर्याप्त बैलेंस होने के कारण चेक बाउंस हो गया। जिसकी जांच करने पर पाया गया कि लायसेंसी कैलाश के बैंक खाते में कभी भी टेंडर में लगायी गई बोली अनुसार राशि नही पायी । इस  प्रकार लायसेंसी द्वारा शासन को धोखाधडी करने की नियत से बोली लगायी थी। तथा इससे राज्य शासन को लगभग 15 लाख रू राजस्व की हानि हुई। आबकारी विभाग द्वारा थाना वायडी नगर मे इस संबंध में रिपोर्ट करने पर धारा 420 के अंतर्गत रिपोर्ट पंजीबद्ध किया गया। विवेचना के दौरान यह तथ्य सामने आया कि लायसेंसी कैलाश की आर्थिक स्थिति पीएस-2 लायसेंस लेने की नही थी।  अन्य आरोपी अब्दुल, शाहनबाज, डाॅ. अशरफ, सरफराज आदि के द्वारा अपराधिक षडयंत्र रच कर कैलाश को डमी ठेकेदार के रूप मे ंखडा कर शासन को 15 लाख की क्षति पंहुचाई ।

प्रकरण में फरार आरोपी डाॅ. अशरफ पिता अनवर खां उम्र 44 साल नि0 नाटाराम तह0 सीतामउ जिला मदंसौर द्वारा माननीय न्यायालय के समक्ष अग्रिम जमानत आवेदन प्रस्तुत किया गया था जिसकी सुनवाई आज नियत थी।
आरोपी डाॅ. अशरफ पिता अनवर खां उम्र 44 साल नि0 नाटाराम तह0 सीतामउ जिला मदंसौर के द्वारा माननीय प्रथम अपर सत्र न्यायधीश महोदय श्री एन.एस. बघेल सा0 मंदसौर के समक्ष अग्रिम जमानत याचिका प्रस्तुत की गई जिस पर से लोक अभियोजक कांतिलाल राठौर द्वारा जमानत का घोर विरोध करते हुए आपत्ति दर्ज कराई जिस पर से माननीय न्यायालय द्वारा आरोपी डाॅ. अशरफ पिता अनवर खां उम्र 44 साल नि0 नाटाराम तह0 सीतामउ जिला मदंसौर की अग्रिम जमानत याचिका निरस्त की गई।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *