शिक्षकों के विरोध के सामने झुके जिला शिक्षा अधिकारी, तुगलकी आदेश किया निरस्त

8:42 pm or September 30, 2022

दीपक शर्मा

पन्ना ३० सितम्बर ;अभी तक; नव पदस्थ जिला शिक्षा अधिकारी सूर्यभूषण मिश्रा ने गत 29 सितम्बर को मनमाने ढंग से कलेक्टर के निर्देश पर एक आदेश जारी किया गया था जिसमे उल्लेख किया गया था कि प्राथमिक तथा माध्यमिक शालाओं मे पदस्थ शिक्षक स्कूल जाने के पूर्व 10ः30 के पहले तथा सांय 05 बजे के बाद ग्राम पंचायत के उपस्थिति रजिस्टर में हस्ताक्षर करेंगे तथा अवकाश हेतु आवेदन एक दिन पूर्व ग्राम सचिव को देना होगा।

उक्त विवादित आदेश जारी होते ही जिले के शिक्षा महकमा मे हडंकप मच गया तथा जिले के शिक्षक, जिला शिक्षा अधिकारी के उक्त विवादित आदेश के विरोध में लामबंद हो गयें तथा दूसरे दिन ही शिक्षा अधिकारी के खिलाफ प्रदर्शन किया गया तथा आदेश निरस्त करने को लेकर ज्ञापन सौपा गया। ज्ञापन सौपते ही शिक्षा अधिकारी को शिक्षको के दबाव के आंगे झुकना पडा तथा तत्काल जारी किये गये आदेश को निरस्त कर दिया गया।

ज्ञापन देने वालों में मुख्यरूप से अधिकारी कर्मचारी संयुक्त मोर्चा के अध्यक्ष कृष्णपाल सिंह यादव मध्यप्रदेश शिक्षक संघ अध्यक्ष रवि शंकर डनायक, राज्य कर्मचारी संघ अध्यक्ष शिव कुमार मिश्रा राज पत्रित अधिकारी कर्मचारी संघ के जिला अध्यक्ष पुष्पराज सिंह परमार पुरानी पेंशन बहाली संघ के जिला अध्यक्ष राजेश मिश्रा शेषमणी दुबे राम किशोर गर्ग अनीता चौबे, रमाकांत खरे, रंजीत कुशवाहा अध्यक्ष शिक्षक अध्यापक संघ, राम कृष्ण पाठक जसवंत सिंह, विजय मिश्रा, प्रभा तिवारी, विभूति श्रीवास्तव सेवानंद सिंह, रामानंद सिंह, कुल्दीप त्रिवेदी, इरसाद मोहम्मद, धन प्रसाद शर्मा, सुग्रीव अहिरवार, राजेन्द्र सिंह धंधेरे, के.पी. अवस्थी, संजय खरे, बालकृष्ण प्रजापति, राम औतार प्रजापति, मनीष दुबे, सुनील पाण्डेय, वैभव मिश्रा, आकाश जोशी, राकेश तिवारी, एवं सैकडों की संख्या में शिक्षक एवं शिक्षिकायें उपस्थित रहीं गौरतलब है कि इस ज्ञापन में कर्मचारियों के हितो के लिए हमेशा लडने वाले सेवा निवृत्त शिक्षक विनोद मिश्रा भी सक्रिया भूमिका में रहे।