शिवना को प्रदूषण से मुक्त कराना हर जिम्मेदार जनप्रतिनिधि का प्रथम दायित्व-श्रीमती पिंकी कमलेश सोनी लाला

महावीर अग्रवाल
मंदसौर २७ फरवरी ;अभी तक; नगर पालिका चुनाव में कांग्रेस की ओर से अध्यक्ष पद के टिकट की सशक्त दावेदार श्रीमती पिंकी कमलेश सोनी लाला ने एक प्रेस विज्ञप्ति में बताया कि पिछले कई वर्षों से शासन, प्रशासन व जनप्रतिनिधि शिवना को प्रदूषण से मुक्त करने जलकुंभी हटाने की लगातार कवायद करते आ रहे हैं लेकिन समस्या का समाधान आज दिन तक नहीं हुआ। शहर के तमाम गंदे नाले  नालियों और कारखानों का प्रदूषित जल शिवना में मिलता आ रहा है जिससे प्रदूषण, गंदगी और बदबू से शिवना को निजात नहीं मिल पा रही है।
                         आपने बताया कि दो वर्ष पूर्व उज्जैन से आए दल ने शिवना का जल ले जाकर उसकी जांच की थी और उसमें प्रदूषण पाया गया था। पीएचई विभाग ने भी यह स्वीकार किया है शिवना के जल में भारी मात्रा में बैक्टीरिया है, इसके चलते शिवना का पानी नदी में पीने, नहाने और आचमन करने के योग नहीं रह गया है। नगर पालिका द्वारा 145 मीटर लंबी सीवरेज लाइन शिवना को प्रदूषण मुक्त करने के लिए बनवाई गई थी लेकिन उससे समस्या का कोई समाधान नहीं निकला है और छोटी पुलिया के यहां शिवना का पानी गंदा और बदबूदार हो गया।
कांग्रेस नैत्री श्रीमती सोनी ने कहा कि शासन-प्रशासन जनप्रतिनिधि और नगर पालिका सभी मिलकर यह संयुक्त प्रयास करें कि  नगर की नालियों और कारखानों का प्रदूषित जल शिवना में नहीं मिले, उसके निकास की स्थाई व्यवस्था की जाए और शिवना के घाटों को साफ व गहरीकरण व सौंदर्यीकरण कर 12 महीने कल-कल कर जल बहता रहे ऐसी  व्यवस्था बनाने का प्रयास करें।
श्रीमती सोनी ने कहा कि भगवान पशुपतिनाथ मंदिर को देश के पर्यटन के नक्शे पर लाने की योजनाएं बनाई जा रही है लेकिन जब तक शिवना शुद्ध नहीं होगी तब तक और पशुपतिनाथ  मंदिर का स्वरूप नहीं निखरेगा और पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र नहीं बन पाएगी, इसके लिए सभी जिम्मेदार आगे आए और शिवना को प्रदूषण से मुक्त कराने के महायज्ञ में अपनी आहुति देकर इस आयोजन को शीघ्र पूर्ण और सफल बनाएं।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *