शिव महापुराण कथा में शिव पार्वती विवाह संपन्न 

8:47 pm or August 5, 2022
महावीर अग्रवाल
मंदसौर ५ अगस्त ;अभी तक;  भगवान शिव को सावन का महीना सबसे प्रिय है, श्रावण के महीने में जितनी शिव भक्ति की जाए कम है. सावन महीने में की गई शिव भक्ति का फल जरूर मिलता है. कई जन्मों के पुण्य जागते हैं जब श्रावण महीने में शिव की भक्ति करने का मनुष्य को सौभाग्य प्राप्त होता हैै. श्रावण महीने में भगवान शिव की भक्ति करने, पूजा अभिषेक करने और शिव महापुराण कथा सुनने का पुण्य बहुत भाग्यशाली लोगों को ही मिलता है.
                     उक्त विचार पंडित विष्णु शर्मा ने नरसिंहपुरा क्षेत्र के कुमावत धर्मशाला में चल रही शिव महापुराण की कथा के चौथे दिन व्यासपीठ से व्यक्त किए. कथा व्यास ने शिव विवाह का वर्णन करते हुए पं. शर्मा कहा कि पर्वतराज हिमालय की घोर तपस्या के बाद माता जगदंबा प्रकट हुईं और उन्हें बेटी के रूप में उनके घर में अवतरित होने का वरदान दिया। इसके बाद माता पार्वती हिमालय के घर अवतरित हुईं। बेटी के बड़ी होने पर पर्वतराज को उसकी शादी की चिंता सताने लगी। कहा कि माता पार्वती बचपन से ही बाबा भोलेनाथ की अनन्य भक्त थीं। एक दिन पर्वतराज के घर महर्षि नारद पधारे और उन्होंने भगवान भोलेनाथ के साथ पार्वती के विवाह का संयोग बताया।

उन्होंने कहा कि नंदी पर सवार भोलेनाथ जब भूत-पिशाचों के साथ बारात लेकर पहुंचे तो उसे देखकर पर्वतराज और उनके परिजन अचंभित हो गए, लेकिन माता पार्वती ने खुशी से भोलेनाथ को पति के रूप में स्वीकार किया। विवाह प्रसंग के दौरान शिव-पार्वती विवाह की झांकी पर श्रद्धालुओं ने पुष्प बरसाए।

शिव महापुराण कथा में शिव पार्वती विवाह संस्कार भी संपन्न हुआ. जिसमें वरिष्ठ पत्रकार नरेंद्र धनोतिया शिव बने और उनकी धर्मपत्नी मंगला धनोतिया पार्वती बनी. शिव पार्वती विवाह के उपरांत कन्या दान भी किया गया जिसमें नरसिंहपुरा क्षेत्र के माताओं बहनों गणमान्य नागरिकों ने भाग लिया।
सर्वप्रथम कन्यादान श्री जगदीश जी भोबरिया ओर उनके परिजनों ने किया।
शिव पार्वती का विवाह कार्यक्रम में विशेष रुप से पार्षद प्रतिनिधि विनय , कांजी पटेल, पार्षद गोरधन लाल कुमावत, जगदीश घाटोला, क्षेत्रीय पार्षद वार्ड नंबर 26 के पार्षद संगीता शैलेंद्र गोस्वामी , राजेश  पुरोहित, नितिन सोनी,रणछोड़ कुमावत, कुमावत समाज के जिला अध्यक्ष वर्दीचंद छापरवाल का व्यास पीठ से सम्मान किया गया । कार्यक्रम में आर्ट ऑफ लिविंग के सिंगर आदित्य धनोतिया ने शिव भजनों की आकर्षक प्रस्तुति दी।
 शिव महापुराण कथा में रामचंद्र जी हरवा, प्रकाश, पुष्कर कुमावत,पंडित ज्वाला प्रसाद जी शर्मा, पंडित जी भावेश तिवारी , पंडित मनोज  शर्मा,कारूलाल , विनोद ,सुखलाल, रवि, राजेश, जितेंद्र ,विजय , कन्हैयालाल भोभरिया कुमावत परिवार ,सहित गांव के गणमान्य नागरिक माताएं बहने उपस्थित थे

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *