श्रम एवं श्रद्धा ने किया चमत्कार, भगवान भोलेनाथ के सामने दोनों छोर पर जल देवता ने दिए दर्शन 

4:50 pm or June 10, 2022
महावीर अग्रवाल
मन्दसौर १० जून ;अभी तक;  शिवना शुद्धिकरण महा अभियान अपने 23वंे दिवस में भगवान पशुपतिनाथ सहस्त्र शिवलिंग महादेव के सामने नदी में दोनों छोर पर जल के दर्शन देखकर प्रत्येक श्रमदानी का मन झूम उठा। बड़े उत्साह के साथ सभी ने शिवना पुलिया पर खड़े होकर जयकारे लगाए। शिवना नदी पर प्रातः काल पक्षियों की संख्या में बहुत बड़ा इजाफा हुआ है इस सकून को देखकर सभी के चेहरे पर बहुत संतोष है। किसी का किया हुआ श्रम कभी भी बेकार नहीं जाता। यह भारत के गीता ग्रंथ में लिखा है उसको पालन करते हुए आज मंदसौर के हास्य क्लब के साथियों ने और शिक्षा विभाग के साथियों ने लगातार डेढ़ घंटे तक श्रमदान किया।
                           आज के इस श्रमदान में मंदसौर के लाफ्टर क्लब के समाजसेवी नरेंद्र मेहता, पीआर ज्ञानी, मदनलाल हासानी, अनिल छाबड़ा, अशोक सोनी, विमल जैन, पारस जैन, शेखर जैन, नेमीचंद जैन, विनोद रिजवानी, अरुण जैन एवं तेजमल गांधी ने मां शिवना के प्रति अपनी आस्था और विश्वास के साथ तगारी उठाकर जोरदार नारों के साथ श्रमदान किया। आज के इस श्रमदान में कंबल केंद्र का समस्त स्टाफ एवं अधिकारी नामदेव सोमकुवर, प्रबंधक राजेश तिवारी, जितेंद्र शर्मा, नारायण सिंह भदोरिया, पुरबिया कुमार आदि ने भी अपनी भागीदारी की। सभी के चेहरे पर बहुत खुशी थी उनके श्रम के कारण मां शिवना अपने पुराने रूप में शीघ्र आएगी यही संकल्प लिए हर व्यक्ति श्रमदान कर रहा है। विजय अग्निहोत्री भी अपने साथियों के साथ इस महा श्रमदान में पहुंचे। पिपलिया मंडी से चलकर कृष्णपालसिंह शक्तावत ने इस श्रमदान में भागीदारी करी, उन्होंने कहा मुझे बहुत संतोष है कि आज हर व्यक्ति सेवा कार्य में बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रहा है यही श्रम आज हर नदी पर राष्ट्र का व्यक्ति करे तो बहुत जल्द ही देश की समस्त नदियां साफ और स्वच्छ हो सकती हैं। गंदगी किसी भी रूप में नदियों में ना डाली जाए इसके लिए शासन को ठोस कदम उठाने होंगे। नरेंद्र मेहता ने कहा समाज के प्रत्येक व्यक्ति जो इस समाज से सब कुछ लेता है, इसलिए इस समाज के प्रत्येक संपत्ति की सुरक्षा करना हमारा मुख्य कर्तव्य होना चाहिए और यह नदियां तो हमारी जीवनदायिनी है, हमारे व्यापार व्यवसाय का मुख्य आधार है इसके लिए हर व्यक्ति को तन मन धन से सहयोग करना चाहिए। आने वाला समय इन नदियों के दम पर ही राष्ट्र प्रगतिशील पथ पर आगे बढ़ेगा। पीआर ज्ञानी अध्यक्ष ने कहा जितने भी सामाजिक संगठन है वह केवल पार्टी, खाने पीने तक सीमित ना रहे सेवा कार्य में यदि संगठन नहीं आता है तो उस संगठन में आज नहीं तो कल विकृति आती है सेवा कार्य से जुड़कर प्रत्येक व्यक्ति में ईश्वर का अंश उतर आता है ईश्वर सेवा श्रम का दूसरा नाम है जिस व्यक्ति के जीवन में सेवा नहीं है वह एक प्रकार से भगवान की भक्ति केवल मन के संतोष के लिए करता है लेकिन ईश्वर का आशीर्वाद उसे नहीं मिलता है। लगातार श्रमदान कर रहे सुनीता भावसार, सीमा चौरड़िया, हरिशंकर शर्मा, अरूण गौड़, राजाराम तंवर, अजीजुल्लाह खान खालिद, घनश्याम भावसार, मनीष भावसार, वीरेंद्र सिंह बेस, लालबहादुर श्रीवास्तव, सत्येंद्रसिंह सोम व नगरपालिका के साथियों ने इस शिवना के लिए अपना इतिहास लिख दिया । प्रतिदिन प्रेस के साथियों ने इस शिवना शुद्धिकरण महा अभियान को जन जन तक पहुंचाने तक बहुत सेवा की है पंकज परमार, रुपेश सोलंकी, शंभूसेन राठौड़ मीडिया के प्रत्येक साथी को एवं प्रेस के साथियों को बहुत-बहुत धन्यवाद प्रशासन करता है जिन्होंने इस अभियान को प्रतिदिन लगातार महता देते हुए प्रकाशित करने के कारण ही नगर के कई सामाजिक संगठन आम जनता ने बहुत उत्साह से इसमें भागीदारी करी है । मशीनों के साथ जो आनंद उत्साह के साथ सहयोग मिला है उसके लिए कलेक्टर श्री गौतम सिंह, एसडीएम बिहारी सिंह, नोडल ऑफिसर सुनील व्यास, डॉ जे के जैन, आरसी तोमर और भी इस अभियान में प्रशासनिक रूप से कार्य कर रहे शिवेंद्रप्रताप सिंह इंजीनियर दिनभर अपनी सेवाएं दे रहे हैं इन्होंने इस अभियान को अपना कर्तव्य मानकर पूरा किया है यह अभियान आगे और चलेगा इसके संकेत भी दिए जाएंगे। इस महा अभियान में प्रशासन के साथ भी कंधे से कंधा मिलाकर जनता ने सहयोग दिया है वह दिन दूर नहीं गंदे नाले शीघ्र बंद होंगे इसका आश्वासन भी प्रशासनिक अधिकारी दे रहे हैं। उक्त जानकारी सत्येन्द्रसिंह सोम ने दी।