श्री पशुपतिनाथ पोरवाल कपल सोश्यल ग्रुप ने आंगनवाड़ी में स्वेटर बांटे,  महावीर पुस्तकालय की पहल रंग लाई

महावीर अग्रवाल
मन्दसौर  २८ दिसंबर ;अभी तक;  महावीर पुस्तकालय वस्त्र वितरण संस्था मंदसौर लगभग प्रतिदिन किसी भी गांव या कॉलोनी के जरूरतमंद विद्यार्थियों को नये स्वेटर बांटे जा रहे है। सोमवार को श्री पशुपतिनाथ पोरवाल सोशल ग्रुप ने महावीर पुस्तकालय के सौजन्य से जनता कॉलोनी की आंगनवाड़ी में बच्चों को नये स्वेटर वितरण किये गये। कार्यक्रम में पालक, महिलाएं, प्राथमिक व माध्यमिक विद्यालय के विद्यार्थी भी उपस्थित थे। वितरणकर्ता संस्था ने सभी विद्यार्थियों को बिस्किट पैकेट वितरण किये। सक्रिय जागरूक समाजसेवी 3 महिला, 3 पुरुष सदस्यों ने सहभागिता की।
                       जिले के प्रमुख शिक्षा अधिकारी श्री रामलाल लोधवार व महेन्द्रसिंह राठौर के सद्प्रयासों से अवकाश के दिनों में भी सेवाकार्य जारी है।
आंगनवाड़ी कार्यक्रम में पोरवाल सोशल ग्रुप संस्था की अध्यक्ष सुनीता गोविन्द मुजावदिया,  सचिव अनिता जगदीश गुप्ता, कोषाध्यक्ष सुनील धनोतिया, संध्या राजेन्द्र घाटिया, नीतु मेहता ने अपने विचार रखते हुए कहा कि निस्वार्थ भाव से सेवा करना मानव धर्म है। मानव समाज में कमजोर, निर्धन और जरूरतमंदों की सेवा ही ईश्वर की सच्ची उपासना है। पोरवाल सोश्यल ग्रुप के  पदाधिकारियों को सेवाकार्य अच्छा लगा। उन्होंने भावना व्यक्त की कि हम 80 सदस्य जब भी संस्था सेवा लेना चाहे हम हमेशा तैयार रहेंगे।
कार्यक्रम का संयोजन संचालन करने में जितेश फरक्या का विशेष सहयोग रहा। जनता कॉलोनी की आंगनवाड़ी क्र. 8/1 की श्रीमती श्रृंगारिका (हंसा)  रामावत व उनकी सहायिका सुनिता श्रीवास्तव ने अवकाश के बावजूद बच्चों की मदद के लिये सराहनीय व अनुकरणीय सेवाएं दी। एक वृद्ध महिला पतासीबाई व एक मानसिक विकलांग मांगीलाल को कम्बल भेंट किये गये।
                          यह जानकारी देते हुए बताया कि पुस्तकालय समिति को 1 लाख 10 हजार रू. की 500 नई जरकीने आंगनवाड़ी व प्राथमिक विद्यालयों के गरीब बच्चों को वितरण हेतु प्राप्त हुई है। लगभग शहर व ग्रामीण क्षेत्र के 12 विद्यालयों में सामग्री वितरण हो चुका है। 13 गांवों में और वितरण जारी है। महावीर पुस्तकालय द्वारा विभिन्न समाजसेवी संस्थाओं व गुरूजनों के माध्यम से सेवा की जा रही है। साथ ही सभी पालकों को संस्था में बुलाकर पूरे परिवार को 3-3 ड्रेस फ्री ले जाने की प्रेरणा दी जा रही है। ग्रामीण क्षेत्र के शिक्षकों व पालकों की आत्मीयता व प्रेम देखने लायक रहा। पालक, बालक व गुरूजन, प्रत्यक्ष मो.नं. 7974413252 सम्पर्क करें। हेमलता, हेमन्त भटनागर, डॉ. आर.डी. जैन, मनोहरसिंह मेहता, समता खिंदावत, दिनेश मुणत, विनोद मेहता ने सबका आभार माना।