श्री प्रेमप्रकाश आश्रम में पवित्र कार्तिक महोत्सव की धूम

3:46 pm or November 17, 2021
महावीर अग्रवाल
मन्दसौर १८ नवंबर ;अभी तक;  श्री प्रेमप्रकाश आश्रम में पवित्र कार्तिक मास माहात्म्य की पाक्षिक कथा का श्रीमती पुष्पा लक्ष्मणदास पमनानी के मुखारविन्द से संगत आनन्द ले रही है।
                 इस आशय की जानकारी देते हुए श्री प्रेमप्रकाश सेवा मण्डली के अध्यक्ष पुरूषोत्तम शिवानी ने बताया कि 6 नवम्बर चन्द्रदर्शन से प्रतिदिन अमृत वेला में ठीक प्रातः 7 से 8 बजे तक पवित्र कार्तिक मास की कथा होती है, जिसमें सिन्धी समाज के स्त्री-पुरुष व बच्चे सम्मिलित होकर इस कथा का आनन्द ले रहे है। आज ग्यारहवे दिवस 17 नवम्बर, बुधवार को अध्याय का वाचन किया गया। जिसमें आज 37वें व 38वें अध्याय के माहात्म्य को बहुत ही सुन्दर व धार्मिक भावनाओं के अनुरूप समझाया। संगत अतिप्रसन्नचित्त होकर कथा ग्रहण कर रही हे।
             कार्तिक महोत्सव की पाक्षिक कथा का समापन भोग 19 नवम्बर, शुक्रवार कार्तिक पूर्णिमा एवं गुरूनानक जयंती के पावन दिवस अमृत वेला में प्रातः 7 बजे होगा।
               श्री प्रेमप्रकाश आश्रम के 13वें वार्षिक उत्सव के उपलक्ष्य में श्रीमद् भागवत गीता व श्री प्रेमप्रकाश ग्रंथ के पाठों का शुभारंभ- शिवानी ने बताया कि हिन्दू समाज की प्रमुख धर्मपीठ श्री प्रेमप्रकाश पंथ की मंदसौर शाखा श्री प्रेमप्रकाश आश्रम का 13वां वार्षिक महोत्सव गादिपती पंचम पिठाध्वेश्वर सतगुरू स्वामी भगतप्रकाशजी महाराज की आज्ञा एवं आशीर्वाद से सन्त श्री शम्भूलालजी प्रेमप्रकाशी के सानिध्य में मनाया जावेगा।
शिवानी ने बताया कि पंचम दिवस कार्यक्रम के तहत आज पाठों की स्थापना की गई। 20 नवम्बर पावन शनिवार जो संयोग से स्वामी टेऊँरामजी महाराज का पावन साप्ताहिक अवतार दिवस है। शाम को 5.30 से 7 बजे तक सन्त श्री शंभूलालजी अपने मुखारविंद से सत्संग प्रवचनों की बर्खा करेंगे एवं 21 नवम्बर रविवार को अमृत वेला में प्रातः 6 बजे आश्रम में श्री मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा मूर्तियों का अभिषेक, मूर्ति पूजा कर पोशाक पहराव करेंगे। 7 बजे मालवांचल के सुप्रसिद्ध पं. उमेश जोशी शास्त्री द्वारा हवन यज्ञ होगा व 10 बजे संत श्री शंभूलालजी पूर्णाहुति कर श्री प्रेमप्रकाश की ध्वजावंदन करेंगे।
                   शिवानी ने बताया कि 11 बजे पंचम पिठाध्वेश्वर गद्दीनशीन सतगुरू स्वामी भगतप्रकाशजी महाराज हिमाचल प्रदेश धर्मशाला में स्थित श्री प्रेमप्रकाश आश्रम से विशेष सत्संग सभा में अपने श्री मुख से संत मण्डल के दर्शन, सत्संग का अमृत रसपान व पल्लव श्री अमरापुर दरबार के यूट्यूब चैनल पर इंटरनेट के माध्यम से सीधा प्रसारण कर संगत पर रहमत कर निहाल करेंगे।
तत्पश्चात् संत श्री शंभूलालजी पंच दिवसीय श्रीमद् भागवत गीता एवं श्री प्रेमप्रकाश ग्रंथ के पाठों का भोग पाकर पंच दिवसीय तेरहवें वार्षिक उत्सव के 13वें मेले का समापन करेंगे।