संक्रमणजनित बीमारी लंपी से बचाव के लिए पशु विभाग का अमला है चौकन्ना

10:05 pm or September 18, 2022

आशुतोष पुरोहित

खरगोन 18 सितंबर 2022 अभीतक । जिले में लंपी पशुओं की लंपी स्कीन बिमारी 56 गांव ग्रसित है। जिले में अभी 119 मवेशियों का उपचार किया जा रहा है। विभागीय अमले द्वारा संबंधित ग्राम में सतत निगरानी कर मवेशियों का उपचार किया जा रहा है। जिले के पशु स्वास्थ्य अमले द्वारा अब तक 5100 पशुओं को टीकाकरण किया जा चुका है। वहीं स्वास्थ्य अमले द्वारा अब तक जिले में स्थित समस्त गौशालाओं में मवेशियों का टीकाकरण का कार्य किया जा चुका है।
लम्पी स्किन बीमारी से कैसे करें पशुओं का बचाव
लंपी स्किन बीमारी से बचाव के लिए पशु विभाग के उपसंचालक ने सुझाव दिया है कि पशु पालक संक्रमित पशुओं को अन्य पशुओं से अलग रखे। साथ ही पशुवाडे की नियमित साफ-सफाई कर मच्छरों से प्रकोप से पशुओं को सुरक्षित रखें। सार्वजनिक होज में एक साथ पशुओं को पानी न पिलाये। पशु पालक पशु में सक्रमण के लक्षण दिखने पर तुरंत निकटस्थ स्थित पशु चिकित्सक से संपर्क कर जानकारी दे ताकि संक्रमित पशु का शीघ्र उपचार किया जा सके।