संतों से अनुग्रहित शान्त धार्मिक नगरी है दशपुर मंदसौर-कलेक्टर श्री गौतमसिंह

6:39 pm or September 28, 2021

महावीर अग्रवाल

मंदसौर,28 सितम्बर , अभीतक । विश्वप्रसिद्ध अष्टमूर्ति भगवान श्री पशुपतिनाथ मंदिर के प्रतिष्ठाता, ब्रह्मलीन संत श्री प्रत्यक्षानन्दजी की 40वीं पुण्यतिथि के उपलक्ष्य में श्री चैतन्य आश्रम मेनपुरिया में आश्रम के युवाचार्य सन्त श्री मणी महेश चैतन्यजी महाराज की सप्त दिवसीय संगीतमय महाशिवपुराण कथा के समापन के अवसर पर नवागत कलेक्टर श्री गौतमसिंह और पुलिस अधीक्षक श्री सुनील पाण्डे ने आश्रम में उपस्थित होकर सन्तों का वन्दनकर आशीर्वाद ग्रहण किया। अतिथिद्वय का चैतन्य आश्रम मेनपुरिया, लोक न्यास अध्यक्ष प्रहलाद काबरा, सचिव एडवोकेट, राधेश्याम सिखवाल, ट्रस्टी रूपनारायण जोशी, बंशीलाल टांक ने शाल श्री फल भेंटकर सम्मान किया।
अनादिकाल से भारत की संस्कृति में राजा-महाराजाओं ही नहीं अवतारी भगवान राम, भगवान कृष्ण द्वारा सन्तों के आश्रम में जाने के बाद किसी उच्च सिंहासन आदि पर नहीं बैठकर सन्तों, गुरूजनों के चरणों में बैठकर आशीर्वाद ग्रहण करने की जो परम्परा रही है। उसी आदर्श संस्कृति का निर्वाह करते हुए कलेक्टर व एसपी अतिथिद्वय ने आग्रहपूर्वक निवेदन करने के बावजूद कुर्सियों पर नहीं बैठकर श्रोताओं के बीच नीचे बैठना श्रेयस्कर समझा।
युवाचार्य सन्त श्री मणी महेश चैतन्यजी महाराज ने कहा कि संत श्री शिवपुराण कथा प्रसंग में मूर्ति पूजा संदर्भ में कहा कि हिन्दू सनातन धर्म में मूर्ति पूजा किसी जड़ पत्थर की नहीं बल्कि  उस मूर्ति में प्रतिष्ठापित चैतन्य ब्रह्म की की जाती है। आपने कहा कि जयपुर अथवा अन्य स्थानों पर तराशी गई पत्थर प्रतिमाओं की विद्वान आचार्यो द्वारा जब तक वैदिक विधि विधान से पूजा हो कर प्राण प्रतिष्ठा नहीं की जाती तब तक कोई महत्व नहीं परन्तु मंदिर में प्रतिष्ठित होने के पश्चात् उसमें ईश्वर स्वरूप प्रकट हो जाता है जो उपासक भक्त की श्रद्धा विश्वास की भावानुसार अपेक्षित फल प्राप्ति होती जाती है।
कलेक्टर श्री सिंह ने दशपुर (मंदसौर) को एक धार्मिक नगरी बताते हुए कहा कि यहां संतोें का अनुग्रह, आशीर्वाद सदैव बरसता रहता है और उसी का फल है कि यहां पर परस्पर शान्ति-प्रेम-सौहार्द का अनुकरणीय वातावरण निर्मित है। आपने कहा कि नगर और जिले की इस शान्ति परस्पर प्रेम-भाईचारे को संतों के आशीर्वाद और आप सबके सहयोग से यथावत जारी रखा जावेगा। श्री सिंह ने कहा कोरोना वैक्सीन का लक्ष्य शत प्रतिशत पूर्ण और डेंगू वायरस पर भी पूरी तरह नियंत्रण पाने में अवश्य सफल होंगे। डेंगू से बचने के लिये सबको अपने घरों के आसपास सफाई स्वच्छता की ओर विशेष ध्यान रखना होगा जिससे डेंगू का लार्वा पैदा नहीं होने पाये।
एस.पी. श्री पाण्डे ने नगर में जो साम्प्रदायिक सौहार्द-स्नेह-भाईचारे का गरिमामय प्रेरणादायी जो वातावरण है उसकी प्रशंसा करते हुए कहा कि नगर के इस गौरव-सम्मान को कायम रखने में कोई कसर नहीं छोड़ी जायेगी।
कलेक्टर एवं एस.पी. ने आश्रम में प्रतिष्ठापित संतों के समाधी मंदिर के दर्शन के साथ ही आश्रम का निरीक्षण भी किया।
प्रारंभ में स्वागत उद्बोधन राधेश्याम सिखवाल ने दिया। संचालन बंशीलाल टांक ने किया। आभार प्रहलाद काबरा ने माना।