सजैस महिला प्रकोष्ठ के कार्यक्रम में गूंजा तपस्वियों का जय जयकारा  भाव आलोचना से की आत्मशुद्धि

महावीर अग्रवाल
मन्दसौर 3 अक्टूबर अभी तक ;  जहां एक ओर इंद्र महाराजा अपनी कृपा बरसा रहे है वहीं देव गुरु धर्म की कृपा से मन्दसौर नगर में तपस्याओं की झड़ी लगी है। सकल जैन समाज महिला प्रकोष्ठ द्वारा आयोजित तपस्वियों के बहुमान कार्यक्रम में तपस्वी अमर रहे, तपस्या ही जीवन है, अनुमोदना अनुमोदना बारम्बार जैसे कई जिन शासन के जयकारे खूब गूंजे।
               सजैस महिला प्रकोष्ठ महामंत्री पायल जैन ने बताया कि मासक्षमण के तपस्वी, 11, 10, 8 व 5 उपवास के तपस्वी रत्नों ने पधारकर आयोजन को शोभायमान किया। कार्यक्रम में तपस्वियों ने दीप प्रज्ज्वलन कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।
मंगलाचरण सीमा जैन ने व अनुमोदना नृत्य वर्तमान पदाधिकारियों ने प्रस्तुत किया। प्रथम बार दैनिक कार्यों में लगने वाले दोषों से आत्म शुद्धि करने वाले भाव आलोचना पाठ की नृत्य नाटिका भी प्रस्तुत की गई, जिसमे विशेष सहयोग पूर्व महामंत्री रश्मि संघई द्वारा दिया गया। कार्यक्रम का संचालन रेखा रातड़िया ने किया एवं आभार सहमंत्री रूपल संचेती ने दिया।
                   इस अवसर पर महिला प्रकोष्ठ महामंत्री पायल जैन, मंत्री पूर्णिमा चोरडिया, हंसा जैन, सहमंत्री सुरभि भंडारी, रश्मि बाफना, जागृति गर्ग ने सभी से सामूहिक क्षमापना करी। पूर्व महामंत्री हेमा हिंगड़, शशि मारू, आशा चौधरी, अंगुरबाला पितलिया, इंद्रा रांका, प्रीति जैन, सुनीता बंडी, प्रमिला लोढ़ा, निधि संघवी, शिखा जैन, पिंकी राजावत सहित अनेक सदस्याएं उपस्थित रही।