सजैस महिला प्रकोष्ठ ने महापुरुषों की गाथाओं को याद कर मनाया शासन स्थापना दिवस

महावीर अग्रवाल

मन्दसौर २९ मई ;अभी तक;  सकल जैन समाज महिला प्रकोष्ठ महामंत्री पायल जैन ने बताया कि, जैन शासन में 24वंे तीर्थंकर भगवान महावीर वर्तमान काल के शासन नायक है, 2577 वर्ष पूर्व प्रभू महावीर के केवल ज्ञान प्राप्ति के उपरांत प्रथम देशना निष्फल गई लेकिन दूसरे दिन अर्थात वैशाख सूद 11 के दिन भगवान महावीर ने देशना दी व साधु ,साध्वी, श्रावक श्राविका रूप चार तीर्थ स्थापित कर शासन स्थापना की।

इस अविस्मरणीय दिवस के अनुसरण में व आज का समाज भी उनसे प्रेरणा ले, ऐसे महापुरुषों व सतियो की गाथाओं को प्रकोष्ठ की सदस्यों द्वारा ग्रुप में ऑडियो व टेक्स्ट के रूप में सुबह 7 बजे से रात्रि 9 बजे तक अनवरत भेजा गया।

पूरा दिन महापुरुषों की दानवीरता, सहनशीलता, देश व समाज के प्रति उनका योगदान यह सुनते व सुनाते हुए बिता,जिससे ग्रुप की सदस्यों के आत्मबल में वृद्धि हुई।

धार्मिक गाथाएं सुनाने वाली सदस्याएं पूर्व महामंत्री शशि मारू, हेमा हिंगड़, रश्मि संघई, सुनीता बंडी, पिंकी राजावत, निर्मला मेहता ,इंद्रा रांका, मंजूला मारू, मंजू कीमती, राखी नाहर, शालिनी लोढ़ा, सोनू भंडारी, कविता लोढ़ा, सुरभि भंडारी, सुनीता किलोस्कर, नमिता पाटनी, निर्विक्षा रातड़िया, अनिता खटोड़, ललिता मेहता, सुधा धाकड़, वंदना संघवी, टीना हिंगड़, खुशबू नलवाया, पुष्पा चंडालिया आदि थी,। तत्वार्थ ज्ञाता धीरज जैन द्वारा  भी विशेष आडियो प्रेषित किया गया। पूर्णिमा चोरडिया, हंसा जैन, प्रज्ञा दोसी, रूपल संचेती, विनीता सिंघवी, आशा श्रीमाल, दिव्या कांकरिया ने सभी की खूब अनुमोदना की।