सब कुछ ठीक रहा तो अगले महीने शुरू हो जाएगी किसान मालगाड़ी

मयंक भार्गव

बैतूल ४ सितम्बर ;अभी तक;  यदि सब कुछ ठीक रहा तो जिलेवासियों को अक्टूबर माह से किसान स्पेशल मालगाड़ी की सुविधा मिल जाएगी। जिससे जिले में बाहर से आने वाली फल सब्जियां आसानी से तय समय में बैतूल पहुंच जाएगी वहीं जिले में बहुतायत में होने वाली फल, सब्जियां सहित अन्य कृषि उपज भी जिले के किसान अन्य राज्यों मेें भेज सकते है। रेलवे द्वारा इसके लिए पिछले दिनों बैतूल में जिले के प्रमुख व्यापारियों की बैठक लेकर उनके विचार भी लिए। यदि किसान मालगाड़ी की सुविधा जिलेवासियों को मिलती है तो जिले के किसान भी समृद्ध होंगे वहीं आम नागरिकों को कम दाम में ताजी सब्जियां उपलब्ध हो जाएगी।

मध्य रेलवे नागपुर मंडल के डीसीएम विपुल कुमार, डीएमडी सुमित कुमार ने बैतूल रेलवे स्टेशन पर एक बैठक ली जिसमें बैतूल स्टेशन के स्टेशन प्रबंधक भजनलाल कोटानिया, परिवहन निरिक्षक एके कटारे, वाणिज्य प्रबंधक संजय खातरकर सहित जिले में रेलवे से माल भेजने और बुलवाने वाले प्रमुख व्यापारी उपस्थित थे। बैठक में व्यापारियों को रेलवे द्वारा बनाई गई नई सुविधाओं की जानकारी दी। वहीं किसान स्पेशल मालगाड़ी चलाने को लेकर भी चर्चा की गई।

अब 6 बोगी न्यूनतम माल भी बुक कर सकते है व्यापारी

कोरोना काल में नियमित यात्री टे्रनों के बंद होने से रेलवे का राजस्व सिर्फ पार्सल सुविधा से मिल रहा है। ऐसे में रेलवे द्वारा अधिक से अधिक माल बुक करवाने व्यापारियों को कई सुविधाएं दी है। अभी तक व्यापारी कम से कम 21 बैगल माल होने पर ट्रेन बुक कर सकते थे लेकिन अब रेलवे द्वारा मात्र 6 बैगल माल होने पर भी बुकिंग की सुविधा दी है। इसके साथ ही एक ही स्थान पर माल भेजने 4-5 व्यापारी मिलकर भी पूरी मालगाड़ी बुक करवा सकते है वहीं पूरी ट्रेन बुक करने की स्थिति में दो स्टेशनों से लोडिंग और अनलोडिंग की सुविधा भी दी जाएगी। रेलवे अधिकारियों ने जिले से होकर किसान स्पेशल मालगाड़ी चलाने पर भी चर्चा की।

बाहर से आती है अधिकतर फल-सब्जी

जिले में अधिकतर सब्जियां और फल नागपुर, हैदराबाद से आते है। वर्तमान में फल और सब्जियां ट्रको के माध्यम से बैतूल आती है। जिससे आने में समय भी लगता है और भाड़ा भी अधिक लगता है जिससे आम नागरिकों को फल और सब्जियां महंगे दामों पर मिलती है। इसके साथ ही जिले में पत्तागोभी, टमाटर की खेती अधिक होती है। वर्तमान में यह किसान भी ट्रकों से सब्जियां बाहर भेजते है लेकिन यदि किसान स्पेशल मालगाड़ी शुरू होती है तो जिले के किसान भी अपनी सब्जियां सहित अन्य उपज दूसरे प्रदेशों में आसानी से भेज सकेंगे।

निर्धारित समय पर चलेगी मालगाड़ी

रेलवे द्वारा अभी किसान स्पेशल ट्रेन चलाने के रूट और समय का निर्धारण नहीं किया गया है लेकिन संभावना है कि यह मालगाड़ी दक्षिण से उत्तर की ओर चलेगी। दक्षिण में चैन्नई, बैंगलोर या हैदराबाद से निजामुद्दीन, पटना या जयपुर के लिए किसान स्पेशल मालगाड़ी चलाई जा सकती है। सूत्रों के अनुसार रेलवे द्वारा अक्टूबर माह से किसान स्पेशल मालगाड़ी चलाई जा सकती है। किसान स्पेशल मालगाड़ी भी यात्री टे्रनों की तरह निर्धारित समय पर चलेगी। यदि किसान स्पेशल ट्रेन शुरू होती है तो जिले में हैदराबाद से सब्जियां, फल आदि बुलाने में आसानी होगी वहीं जिले में अधिक मात्रा में होने वाली पत्ता गोभी, टमाटर आदि आसानी से बाहर जा सकेगी।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *