समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के लिए 6829 किसानों को भेजा गया एसएमएस

8:16 pm or November 30, 2021

आनंद ताम्रकार

बालाघाट ३० नवंबर ;अभी तक;

किसानों को उनकी उपज का वाजिब दाम दिलाने के एवं उन्हें बिचौलियों व दलालों के शोषण से बचाने के लिए शासन के निर्देशों के अनुरूप 29 नवंबर 2021 से बालाघाट जिले में समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी प्रारंभ हो गई है। कलेक्टर डॉ गिरीश कुमार मिश्रा के मार्गदर्शन में समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी के लिए व्यापक इंतजाम किये गये है। प्रथम दो दिनों में धान की खरीदी के लिए जिले के 6829 किसानों को उनके मोबाईल नंबर पर एसएमएस भेजा जा चुका है। 30 नवंबर को शाम 06 बजे तक की गई आनलाईन एन्ट्री के अनुसार इनमें से 06 किसानों से 45 क्विंटल धान की खरीदी की जा चुकी है।
                  आज दिनांक 30 नवंबर को तहसीलदार श्री रामबाबू देवांगन द्वारा धान खरीदी केंद्र सोसाइटी हट्टा का निरीक्षण किया गया । जिसमें यह पाया गया कि केंद्र में तौल कांटा उपलब्ध नहीं है बैनर नहीं लगाया गया है । पीने के पानी और किसानों के रुकने की व्यवस्था नहीं की गई है । इस पर पंचनामा तैयार किया गया और सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए। कलेक्टर डॉ गिरीश कुमार मिश्रा ने इस स्थिति पर कड़ी नाराजगी जाहिर की है और हट्टा की सहकारी समिति के प्रबंधक और वहां के नोडल अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिये है कि क्यों न इस लापरवाही के लिए उनके विरूद्ध सख्त अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाये।
                  समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी के लिए बालाघाट जिले में कुल 194 केन्द्र बनाये गये है। इनमें से 13 केन्द्र महिला स्वयं सहायता समूहों द्वारा संचालित किये जा रहे है। समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी के लिए जिले के 01 लाख 15 हजार 698 किसानों का पंजीयन किया गया है। किसान के बैंक खाते आधार नंबर से लिंक होने का सत्यापन का कार्य किया जा रहा है । अब तक 36 हजार 418 किसानों के आधार नंबर का सत्यापन किया जा चुका है। जिन किसानों का बैंक आधार नंबर से लिंक नहीं है उन्हें अपने बैंक खाते को शीघ्र आधार नंबर से लिंक कराने कहा गया है।
                     समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी 29 नवंबर 2021 से 15 जनवरी 2022 तक सप्ताह में 05 दिन सोमवार से शुक्रवार प्रात: 08 से शाम 07 बजे तक की जायेगी और कृषक तौल पर्ची शाम 06 बजे तक जारी की जायेगी। किसानों से धान समर्थन मूल्य 1940 रुपये प्रति क्विंटल की दर से खरीदा जायेगा। पंजीकृत किसानों से समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी के लिए एफएक्यू मापदंड का पालन किया जायेगा। जिसके अनुसार बिक्री के लिए लायी गई धान में 17 प्रतिशत से अधिक नमी नहीं होना चाहिए, कार्बनिक पदार्थ 01 प्रतिशत, अकार्बनिक पदार्थ 01 प्रतिशत, क्षतिग्रस्त, बदरंग, अंकुरित एवं घुने दाने 05 प्रतिशत, अपरिपक्व, सिकुड़े, कुम्हलाये दाने 03 प्रतिशत, निम्न श्रेणी का मिश्रित धान 06 प्रतिशत से अधिक नहीं होना चाहिए। किसानों को इस मापदंड के अनुसार ही धान बिक्री के लिए लाने की सलाह दी गई है।