समाज का हर व्यक्ति धर्म की ओर अग्रसर होने लगा है बस सही मार्गदर्शन करने वाले की जरूरत – चंद्रकला सेठिया

7:45 pm or July 22, 2022

महावीर अग्रवाल

मंदसौर २२ जुलाई ;अभी तक;   अभिषेक के नवे दिवस पर मल्हारगढ़ क्षेत्र के ग्राम पलेवना में सैकड़ों की तादात में श्रद्धालुओं ने अभिषेक में भागीदारी की। उन्होंने बड़ी श्रद्धा के साथ 2 घंटे तक अभिषेक विधि विधान से करने के बाद एक ही बात कहीं यह आज समाज को धर्म की ओर ले जाने वाले संस्थाओं की जरूरत है।

इस अवसर पर चंद्रकला सेठिया द्वारा अभिषेक को संचालित करते हुए कहा ऐसा समय सतयुग की ओर अग्रसर हो रहा है हर व्यक्ति वर्तमान में धार्मिक बनना चाहता है किसी न किसी चिंता से पीड़ित व्यक्ति ईश्वर का साथ चाहने के लिए यह समय सबसे उत्तम समय वर्तमान चल रहा है लेकिन यह आस्था की भूख प्रति व्यक्ति जगने के कारण उसे सही मार्गदर्शक की आवश्यकता पड़ रही है ऐसे समय में गायत्री परिवार द्वारा गांव-गांव में भगवान शिव का महा रुद्राभिषेक कराते हुए संपूर्ण कष्ट मुक्ति का मार्ग साधना के माध्यम से और जीवन में आस्था पक्ष को महत्व देते हुए ईश्वर का मनुष्य का संचालन का मुख्य आधार मानते हुए देवी अनुग्रह इस सावन मास में मिलने का संकल्प के साथ यह अभिषेक कराए जा रहे हैं।  गांव के गांव इस अभिषेक में सम्मिलित होने के लिए आतुर है।

अभिषेक का संचालन करते हुए चंद्रकला सेठिया ने अपने उद्बोधन में कहा भगवान भी अपने भक्तों को ढूंढता है जो पात्र है उसे सब कुछ देता है पात्रता यदि जिसके जीवन में है वह ईश्वर को शीघ्र पा सकता है, जब मनुष्य के जीवन में ईश्वर आशीर्वाद आने लगता है तो वह शांत होता चला जाता है उसकी क्रोध और इच्छाएं सब कुछ ईश्वर के चरणों में समर्पित होती चली जाती है वह परम आनंद की अनुभूति चारों और महसूस करता है यह शिव साधना का सबसे बड़ा चमत्कार है जो भी जीवन में अशांत मन लेकर व्यक्ति घूम रहा है उसके लिए शिव साधना और यह रुद्राभिषेक एक प्रकार से सबसे बड़ी साधना कहलाती है। हम पूर्ण विश्वास के साथ कह सकते हैं जिसने भी जीवन में साधना आराधना स्वाध्याय संयम और सेवा का मार्ग अपनाया है उसे जीवन में कभी कोई कष्ट करना ही नहीं आती अपनी स्वार्थ महत्वकांक्षी को छोड़ना वाला व्यक्ति ही सही अर्थों में ईश्वर की प्राप्ति कर सकता है ईश्वर के लिए सेवा के लिए यही समाज है कहीं और जाने की आवश्यकता नहीं इसकी शुरुआत आप अपने परिवार के साथ अपने आस पड़ोस गांव शहर सब दूर सेवा करने के लिए केवल मन बनाने की आवश्यकता है गायत्री परिवार किसी कार्य को करने के लिए आपसे आज इस अभिषेक में यह दक्षिणा मांगता है आप अपने समाज में मृत्यु भोज बंद करें और दहेज किसी से ना मांगे अपने परिवार में नशे कोई स्थान न दें प्रतिदिन एक घंटा सेवा कार्य में लगाएं निस्वार्थ कार्य करने वालों के साथ जुड़कर समाज का कार्य करें आपको 100ः भगवान शिव की आराधना करने का आनंद आएगा कहीं और जाने की आवश्यकता नहीं है भगवान पशुपतिनाथ की नगरी में जन्म लेकर आपने अपने कई जन्मों का पुण्य के कारण यह संभव हुआ है आपको इस प्रतिमा का संरक्षण अवश्य मिलेगा इस अवसर पर श्रीमती मधु कुंवर चंद्रावत लीला मंडोरा जितेंद्र सिंह भंवर सिंह चंद्रावत इस महा अभियान को सफल बनाने में रात दिन मेहनत कर रहे हैं जिसके सफलतम परिणाम आने लगे हैं गांव-गांव में अभिषेक की मांग बढ़ती जा रही है राम जानकी मंदिर में घनश्याम जी वैष्णव द्वारा संपूर्ण व्यवस्था बनाने में सहयोग जो दिया गया उसके लिए गायत्री परिवार ने धन्यवाद माना यह जानकारी गायत्री परिवार युवा प्रकोष्ठ प्रभारी पवन गुप्ता ने दी।