सरकार चुनाव में व्यस्त, कोरोना में उपयोगी रेमेडेसीवेर इंजेक्शन नही है उपलब्ध- श्री बघेरवाल

महावीर अग्रवाल
मंदसौर २४ सितम्बर ;अभी तक; मध्यप्रदेश की शिवराजसिंह चैहान सरकार सिर्फ चुनावी सरकार ही साबित हो रही है। कोरोना की दस्तक के साथ सत्ता हथियाने वाली शिवराज सरकार ने नाकामी के किर्तिमान स्थापित करते हुये अब तक हजारो नागरिको को मौत के मंुंह में पहुंचा चुकी है। कोरोना महामारी मे समय पर अस्पताल पहुंच गये संक्रमितो का ’रेमेडेसीवेर -100 एमजी इंजेक्शन जीवन रक्षक बनकर उभरा है मगर अफसोस यह है कि मध्यप्रदेश के जिला अस्पतालों के आइसोलेशन वार्डो मे यह उपलब्ध नही है जिसके कारण बडी संख्या मे नागरिको को अपने जीवन समाप्त हो रहा है।
                 यह बात जिला कांग्रेस कार्यकारी अध्यक्ष श्री शेलेन्द बघेरवाल ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से कही। उन्होनेें कहार कि कोरोना से संक्रमित मरीज को 6 से 8 तक यह इंजेक्शन लगते है दृमध्यप्रदेश में यह इंजेक्शन संभागीय मुख्यालयों मे ही उपलब्ध है ओर सरकार इसे उपलब्ध नही करवा रही है जिसके चलते कोरोना मरिजो को इंदौर, भोपाल या अन्य शहरो में रेफर करने के साथ ही इंजेक्शन की व्यवस्था के लिये काफी मशक्कत स्वास्थ्य विभाग को करना पड रही है। उन्होने दावा करते हुये कहा कि  पडोसी गुजरात, राजस्थान, महाराष्ट्र अन्य राज्यो मे सरकार इस इंजेक्शन को रियायती दर पर उपलब्ध करवा रही है ओर वह भी अपने जिला अस्पतालों तक। मध्यप्रदेश में ’रेमसीडिवीर’ इंजेक्शन जिसका लागत मूल्य 900 रुपये है ओर दवा कंपनियां से थोक व्यापारी करीब 2800 से 3000 के बीच खरीद रहे है ओर मरीज को लगभग 5400 प्रति इंजेक्शन लगाया जा रहा है।  अगर गंभीर संक्रमित मरीज अगर गरीब या लोअर मीडिल क्लास है ओर उसके साथ परिवार भी चपेटे मे है तो क्या होगा?
                 श्री बधेरवाल ने कहा कि सरकार उपचुनाव में व्यस्त है जिसके कारण स्वास्थ्य विभाग की मांग के बावजुद ’रेमसीडिवीर इंजेक्शन उपलब्ध नही हो रहा है, इस इंजेक्शन की कमी का परिणाम यह है कि मध्यप्रदेश का रिकवरी रेट नेशनल औसत से कम है ओर मृत्यू दर राष्ट्रीय औसत से ज्यादा ..ओर जो मोतै प्रदेश के नागरिकों की अन्य राज्यो या प्रदेश के अन्य जिलो मे हो रही है उसका आंकडा उपलब्ध ही नही है।
            श्री बघेरवाल ने कहा कि स्थानीय जनप्रतिनिधिगण को इस गंभीर मसले पर क्या कर रहे है, छोटी-छोटी बातो पर बयान जारी करने वाले जनप्रतिनिधिगण ’रेमसीडिवीर इंजेक्शन को अपने जिलो मे उपलब्ध करवाने के लिए क्या कदम उठाये है इसका उत्तर आम नागरिको को दे, उनकी चुप्पी यह साबित करती है कि उन्होनें अपने दायित्व का पालन कितनी गंभीरता से किया है।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *