सांभर और जंगली बिल्ली को मारकर खा गए शिकारी, दो शिकारियों को किया गिरफ्तार

8:32 pm or December 21, 2021

मयंक भार्गव, बैतूल से

बैतूल २१ दिसंबर ;अभी तक;  वन्य प्राणी कहे जाने वाले सांभर और जंगली बिल्ली का शिकार कर शिकारियों ने उन्हें खा लिया। इस मामले में वन कर्मियों द्वारा जहां 2 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है वहीं 7 आरोपी अभी फरार चल रहे हैं। वन्य प्राणियों के शिकार का यह कोई नया मामला नहीं है। इससे पूर्व भी कई मर्तबा शिकार हो चुके हैं लेकिन बैतूल रेंज में शिकार की घटनाएं बढ़ गई हैं।

करंट लगाकर मारे सांभर और बिल्ली

प्रभारी रेंजर विकास सेठ ने बताया कि बैतूल रेंज में वन्य जीवों का शिकार साफ्ट टारगेट है यही वजह है बैतूल रेंज में शिकार के मामले बढ़ते नजर आ रहे है। वन्य जीव के शिकार का एक माह में यह दूसरा मामला है जब बिजली के तार डालकर सांभर समेत विलुप्त प्रजाति में शुमार जंगली बिल्ली का शिकार कर लिया गया था। शिकार की यह घटना रविवार की है।

दो आरोपी गिरफ्तार

प्रभारी रेंजर विकास सेठ ने बताया कि बैतूल रेंज के जठानदेव में अनुभूति कार्यक्रम में रेंज के सभी कर्मचारी व्यस्त थे। इसी दौरान मुखबिर से सूचना मिलने पर गुघ्घी चोपना में दबिश दी गई। दबिश में बड़े पैमाने पर सांभर ओर जंगली बिल्ली के मांस के अलावा शिकार में उपयोग किये जाने वाले फंदे ओर खूंटी समेत बिजली के तार जब्त किए है। फिलहाल 2 आरोपी चिरौंजी लाल ओर उसका बेटा कमलेश को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। शिकार में सहयोग करने वाले आरोपी जिन्होंने जाल फैलाया था खूंटी लगाई थी और जिन्होंने मांस खरीदा ऐसे कुल 7 आरोपी फरार है।

200 रुपये किलो बिकता है सांभर का मांस

सूत्र बताते है कि घुघ्घी चोपना निवासी चिरौंजी शिकार का मांस खुले रूप से 200 रुपये किलो के भाव खुले रूप में बेचते है। सूत्रों की माने तो चिरौंजी शिकार करता है ओर उसका बेटा कमलेश बेचने का काम करता है। शिकारियों से वनकर्मियों ने लगभग 70 किलो मांस जब्त कर जांच के लिए जबलपुर भेजा है।