सांसद सुधीर गुप्ता ने हर घर बिजली कनेक्शन प्रदान करने को लेकर लोकसभा में किया प्रश्न  

महावीर अग्रवाल

मंदसौर २६  सितम्बर ;अभी तक; सांसद सुधीर गुप्ता ने हर घर में बिजली कनेक्शन प्रदान करने को लेकर लोकसभा में प्रश्न किया। सांसद गुप्ता ने कहा है कि सरकार द्वारा इसका कोई लक्ष्य निर्धारित किया गया है यदि ऐसा है तो उसका ब्यूरो क्या है। वही इस संबंध में कौन-कौन सी योजनाएं लागू की गई है । साथ ही पिछले 3 वर्षों में इन योजनाओं पर सरकार द्वारा कितनी धनराशि खर्च की गई है।  सांसद सुधीर गुप्ता ने कहा कि अभी तक विद्युतीकरण हो चुके घरों और जिन घरों में बिजली नहीं पहुंची है उनकी संख्या कितनी है। इसी के साथ ही सरकार द्वारा इस संबंध में कार्य को पूरा करने के लिए क्या-क्या कदम उठाए जा रहे हैं इस पर भी सरकार का ध्यानाकर्षण किया।

प्रश्न के जवाब में उत्तर देते हुए विद्युत और नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) तथा कौशल विकास एवं उद्यमिता राज्यमंत्री आर.के. सिंह ने बताया कि भारत सरकार ने सार्वभौमिक घरेलू विद्युतीकरण प्राप्त करने के लिए पूरे देश के ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में सभी गरीब परिवारों के लिए अंतिम छोर कनेक्टिविटी तथा विद्युत कनेक्शन प्रदान करने के उद्देश्य से भारत सरकार ने 12,320 करोड़ रुपए की कुल बजटीय सहायता सहित 16,320 करोड़ रुपए के परिव्यय के साथ अक्टूबर 2017 में प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना सौभाग्य योजना की शुरुआत की थी। देशभर में सभी राज्यों ने सौभाग्य पोर्टल पर योजना की शुरुआत से 31 जून 2019 तक 2.68 करोड़ घरों मंे बिजली पहुंचाई गई। मध्य प्रदेश की बात की जाए तो 31 मार्च 2019 तक 19 लाख 84 हजार 264 घरों में विद्युतीकरण का कार्य हो चुका है।  इसी के साथ ही सात राज्यों ने 31 मार्च 2019 से पहले चिन्हित 19.50 लाख गैर विद्युतीकरण घरों की सूचना दी, जो पहले इच्छुक नहीं थे परंतु बाद में कनेक्शन प्राप्त करने के लिए तैयार हो गए थे। राज्यों ने इन घरों को सौभाग्य स्कीम के अंतर्गत विद्युत करने के लिए कहा गया है। इनमें से 31 अगस्त 2020 तक कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि सौभाग्य योजना के अंतर्गत गत 3 वर्षों और 31 अगस्त 2020 तक चालू वर्ष के दौरान अनुदान के रूप में 5,117 करोड रुपए सवितरित किए जा चुके हैं।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *