साजिश रचकर पुलिस को चकमा देने का असफल प्रयास, अब अंधे कत्ल की गुत्थी बनी चुनौती

मयंक शर्मा
खंडवा ३० अप्रैल ;अभी तक; पुलिस को चकमा देने के लिये घटना दिवस मृतक  के मोबाइल से उसके भाई सुरेश को मैसेज किया कि मम्मी-पापा का ध्यान रखना। मैं आपके लिए कुछ नहीं कर सका। मैं अपनी इच्छा से अपनी जान दे रहा हूं।  इस मैसेज को मामले की जांच में गंभीरता से लेकर पुलिस हत्यारों को सुराग तलाशने में लगी हुई है।
                 जिले की किल्लौद पुलिस द्वारा हत्या का प्रकरण दर्ज कर अज्ञात हत्यारे की तलाश रही है। थाना प्रभारी  हीना डाबर ने बताया कि मनीष सेन निवासी ग्राम मिनावा माल की अज्ञात बदमाश ने हत्या कर दी। इस बात पुष्टि गुरूवार को आई पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हुई है।मृतक इंदौर में रहकर बड़े भाई सुरेश के साथ हेयर सेलून का कार्य करता था।
                  कोरोना संक्रमण बढ़ते देख मृतक  अपने गांव वापस आ गया था। 27 अप्रैल को मनीष सेन अपने घर से घूमने जाने का बोलकर निकला था। इसके बाद शाम तक वापस नहीं आया तो परिजन तलाश में जुंट गये। ं मनीष का शव देर शाम गांव के पास स्थित कुंए में मिला । पुलिस ने अगले दिन शव को कुंए से बाहर निकाला। मनीष के हाथ और पैर तार से बंधे हुए थे।  थाना प्रभारी हीना डाबर ने बताया कि पीएम रपट के अनुसार मनीष की गला घोंटकर हत्या की गई है। हत्यारे ने शव को ठिकाने लगाने के लिए पास ही एक कुंए में फेंक दिया। ताकि मनीष की मौत एक हादसा  लगे। शुक्रवार को हत्या का मामला दर्ज किया है।