:सात हजार रुपये की रिस्वत लेते टीआई गिरफ्तार

मुरैना 22 जून  ;अभी तक;  लोकायुक्त पुलिस ग्वालियर की  टीम ने  कल रात को सात हज़ार रुपये की रिश्वत लेते हुए सबलगढ़ थाना प्रभारी नरेंद्र शर्मा और उनके माली महेंद्र पाल को रंगे हाथ गिरफ्तार किया है. । थाना प्रभारी और थाने में पदस्थ सब इंस्पेक्टर ने एक युवक को उसकी बाइक छोड़ने के बदले में 20 हजार रुपए रिश्वत की मांग की थी, लेकिन मामला 12 हजार में पट गया था. युवक ने 5 हजार रुपए पहले दे दिए थे. फिलहाल, टीम ने थाना प्रभारी, सब इंस्पेक्टर और महेंद्र पाल के खिलाफ आगे की कार्रवाई की है.

सुरेंद्र यादव लोकायुक्त निरीक्षक ने बताया कि श्योपुर जिले के रहने वाले ऋषिकेश गोस्वामी ने रिश्वत के मामले में लोकायुक्त एसपी ग्वालियर से शिकायत की थी, जिसमें बताया गया कि सबलगढ़ थाना प्रभारी एनके शर्मा और थाने में पदस्थ सब इंस्पेक्टर महावीर शर्मा ने उसकी बाइक छोड़ने के एवज में 20 हजार रुपए रिश्वत की मांग की थी, लेकिन मामला 12 हजार में पट गया है. रिश्वत की रकम में से 5 हजार रुपए उसने पहले ही दे दिए थे. एस डी ओपी गुरुबचन सिंह ने टी आई नरेन्द्र शर्मा के रिस्वत लेतेरँगे हाथ पकड़े जाने की पुष्टि की है।

निरीक्षक ने बताया कि पीड़ित की शिकायत पर थाना प्रभारी और सब इंस्पेक्टर को रंगे हाथ दबोचने की योजना बनाई गई. योजना के अनुसार, युवक शेष 7 हजार रुपये लेकर सोमवार की देर रात थाना प्रभारी के बंगले पर पहुंच गया. थाना प्रभारी ने उसको बंगले में मौजूद नौकर महेंद्र पाल के हाथ में रुपए देने के लिए कहा. युवक ने महेंद्र पाल के हाथ मे 7 हजार रुपए थमा दिए. नौकर ने ये रुपए अलमारी में रख दिये।उन्होंने बताया कि थाना प्रभारी ने अलमारी से रुपए उठाकर जैसे ही अपने पास रखे, तभी लोकायुक्त की टीम ने उन्हें रंगे हाथ दबोच लिया. थाना प्रभारी एनके शर्मा और नौकर महेंद्र पाल के हाथ धुलवाने पर वही रंग निकला जो नोटों पर लगा हुआ था. लोकायुक्त की टीम ने थाना प्रभारी नरेंद्र शर्मा,और महेंद्र पाल के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है.सब इंस्पेक्टर को भी मामले में आरोपी बनाया गया है।