साध्वी डॉ. दिव्यप्रभाजी म.सा. आदि ठाणा 4 का चातुर्मास पूर्ण

7:41 pm or November 21, 2021

महावीर अग्रवाल 

मन्दसौर २१ नवंबर ;अभी तक;  रविवार को श्री वर्धमान स्थानकवासी जैन श्रावक संघ नईआबादी के द्वारा चातुर्मास की पूर्णता पर विशेष धर्मसभा का आयोजन कर यहां चार माह से चातुर्मास हेतु विराजित साध्वी डॉ. दिव्यप्रभाजी  म.सा. साध्वी श्री निरूपमजी म.सा., श्री सौम्याजी म.सा. श्री आर्याजी म.सा. को विदाई दी गई। विदाई के बाद साध्वी डॉ. दिव्यप्रभाजी म.सा. आदि ठाणा 4 ने शास्त्री कॉलोनी नईआबादी स्थित श्री जैन दिवाकर स्वाध्याय भवन से विहार किया। साध्वीजी की रविवार को स्थिरता श्री नरेन्द्र मेहता, राजीव मेहता, डॉ. संजीव मेहता के निवास स्थान पर रही। साध्वीजी को श्री वर्धमान स्थानकवासी जैन श्रावक संघ श्री साधुमार्गी शांत क्रांति जैन श्रावक संघ मंदसौर के द्वारा रविवार को प्रातःकाल आत्मीय विदाई दी गई। साध्वीगणों ने शास्त्री कॉलोनी से अफिम गोदाम रोड़, जैन दिवाकर द्वार, बीपीएल चौराहा, महू-नीमच रोड, नाहटा चौराहा होते हुए सज्जन निवास (मेहता निवास) पर स्थिरता हेतु प्रस्थान किया। मार्ग में कई स्थानों पर मंदसौर नगर के गणमान्य नागरिकों ने उनके दर्शन वंदन का लाभ लिया। मेहता परिवार के निवास स्थान पर संक्षिप्त धर्मसभा हुई। जिसमें साध्वी डॉ. दिव्यप्रभाजी म.सा. ने सभी उपस्थित श्रावक श्राविकाओं को मांगलिक दी।

इसके पूर्व श्री वर्धमान स्थानकवासी जैन श्रावक संघ नई आबादी के द्वारा रविवार व शनिवार को साध्वीगणो की विदाई के अवसर पर विशिष्ठ धर्मसभा का आयोजन किया गया। धर्मसभा मे साध्वी डां. दिव्यप्रभाजी ने कहा कि मंदसौर का श्रमण संघ सेवाभावी व साधु संतों की सेवा में तत्पर रहने वाला श्रीसंघ है चार माह में मंदसौर के स्थानकवासी जैन समाज के सभी महानुभाव व माता बहनों ने हमारी प्रत्येक आज्ञा का पालन किया। चार माह में प्रतिदिन प्रवचन सहित यो गतिविधियां हुई उसमे सभी ने बड़चड़कर भागीदारी की। जिन्होंने जिनवाणी का लाभ लिया है वे बहुत पुण्यशाली है मंदसौर में जो भी साधु साध्वी आये आप उनकी इसी प्रकार सेवा करें और धार्मिक गतिविधियों में भागीदारी करते रहे।
धर्मसभा में अध्ययीय उद्धबोधन देते हुये श्रीसंघ अध्यक्ष श्री अशोक उकावत ने कहा कि साध्वीजी के प्रवेश का लाभ नरेन्द्र मेहता परिवार ने लिया था आज विहार में भी सर्वप्रथम लाभ मेहता परिवार ने लिया है जहाँ से साध्वीली का प्रवेश हुआ वही से विहार भी हो रहा है । मैं श्री संघ का अध्यक्ष होने के नाते स्थानकवासी जैन समाज के सभी श्रावक श्राविकाओं के प्रति आभारी हूँ उन्होंने पूरे चातुर्मास में हमे सहयोग प्रदान किया। साथ ही चातुर्मास आयोजन में सहयोग करने वाले सभी महानुभाव व माता बहनों के प्रति भी आभारी हूॅ।
धर्मसभा में साधुमार्गी शांत क्रांति जैन श्रावक संघ अध्यक्ष विमल पामेचा, समाजसेवी बाबूलाल जैन नगरीवाला, पंकज मुरडिया, पूर्व अध्यक्ष विनोद कुदार आदि ने भी अपने विचार रखे। धर्मसभा में शशि मारू, राखी नाहर, लोकेन्द्र जैन गोटावाला, पूर्णिमा चौरड़िया, सपना कुदार, अनिता मारू, जैन दिवाकर महिला मण्डल अध्यक्ष अनिता हेमन्त मेहता, महामंत्री सपना कुदार व चंदनबाला महिला मण्डल शहर ने भी स्तवन (गीत) प्रस्तुत किये। धर्मसभा में एक वर्ष से एकासने (24 घण्टे में मात्र एक बार आहार) करने वाले सागरमल जैन गरोठवाला का शाल ओढ़ाकर श्री संघ ने बहुमान किया। धर्मसभा का संचालन जैन दिवाकर नवयुवक परिषद् अध्यक्ष श्री अशोक झेलावत ने किया तथा सभी के प्रति आभार भी व्यक्त किया।