साबाखेड़ा मे बासी और दो सप्ताह पुरानी मिठाइयों की बिक्री 

4:44 pm or November 20, 2020
साबाखेड़ा मे बासी और दो सप्ताह पुरानी मिठाइयों की बिक्री 

महावीर अग्रवाल

मंदसौर २० नवंबर ;अभी तक; साबाखेड़ा मे बासी मिठाइयां धड़ल्ले से बिक रही हैं। लेकिन खाद्य एवं औषधि विभाग का इस ओर कोई ध्यान नहीं है। दुकानदारों द्वारा न केवल पुरानी मिठाइयों की बिक्री की जा रही है बल्कि उन्हें खुले में रखकर बेचा जा रहा है। दूषित मिठाइयों से बीमारी फैलने की बात भी सामने आई है।
                  साबाखेड़ा के गांव मे स्थित मिठाई की दुकानों पर सड़ी गली बासी और दो सप्ताह पुरानी मिठाइयों की बिक्री हो रही है। ग्राहकों को बेची जाने वाली इस मिठाई को ढंककर भी नहीं रखा जाता। धूल-मिट्टी के साथ-साथ मक्खियां व अन्य तरह के कीड़े मिठाई को दूषित कर देते हैं। इसी मिठाई को दुकानदार ग्राहकों को थमाते हैं। काफी समय से यह कारोबार शहर में जारी है, लेकिन खाद्य सुरक्षा विभाग इस ओर सक्रिय नहीं हुआ है।क्षेत्र मे बीमारी फैलने की आशंकासाबाखेड़ा में दो सप्ताह पुरानी मिठाइयां धड़ल्ले से बिक रही हैं। लेकिन खाद्य एवं औषधि विभाग का इस ओर कोई ध्यान नहीं है। दुकानदारों द्वारा न केवल पुरानी मिठाइयों की बिक्री की जा रही है बल्कि उन्हें खुले में रखकर बेचा जा रहा है। दूषित मिठाइयों से बीमारी फैलने की बात भी सामने आई है।खाद्य सुरक्षा विभाग से कार्यवाही की मांग साबाखेड़ा मे मिठाई की सभी दुकानों पर ग्राहकों को बेची जाने वाली इस मिठाई को ढंककर भी नहीं रखा जाता। धूल-मिट्‌टी के साथ-साथ मक्खियां व अन्य तरह के कीड़े मिठाई को दूषित कर देते हैं।
                 इसी मिठाई को दुकानदार ग्राहकों को थमाते हैं। काफी समय से यह काराबोर नगर में जारी है, लेकिन खाद्य सुरक्षा विभाग इस ओर घ्यान देकर तुरन्त कार्यावाही करे। सुर्खियों में आई मेगी के सैंपल तो खाद्य सुरक्षा अधिकारी जगह-जगह से ले रहे हैं लेकिन मिठाई की दुकानों पर सैपलिंग की कार्रवाई नहीं हो सकी है। दूषित मिठाई खाने से लोग बीमार भी हो रहे हैं।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *