सामाजिक समरसता एवं सद्भाव के प्रतीक थे श्री गुरु नानक देव

महावीर अग्रवाल
मंदसौर १७ नवंबर ;अभी तक; श्री गुरु नानक देव जी के 550 प्रकाश पर्व पर आज नगर में पंच प्यारों की अगुवाई में भव्य बैंड बाजों की धुन के साथ हैरतअंगेज करतब दिखाने वाले अखाड़ों के साथ सिख समाज द्वारा एक भव्य चल समारोह निकाला गया।
सिख समाज द्वारा निकाली गई विशाल चल समारोह का स्वागत सामाजिक समरसता मंच द्वारा नगर में निवासरत समाज प्रमुखों द्वारा किया गया। इस अवसर पर सभी समाज प्रमुख द्वारा पंच प्यारों का स्वागत किया गया जो बोले सो निहाल सत श्री अकाल का जयकारा लगाया गया।
                मंदसौर शहर का श्री गुरु नानक देव जी से बहुत ही गहरा लगाव है श्री गुरु नानक देव मंदसौर शहर में जहां-जहां रुके थे वहां उनकी चरण पादुका के दर्शन आज भी किए जा सकते हैं।  सामाजिक समरसता मंच द्वारा प्रातः लक्ष्मण सा दरवाजा स्थित सिंधी समाज गुरुद्वारे पर एवं प्रतापगढ़ पुलिया पर स्थित गुरुद्वारे पर मत्था टेक आ गया चल समारोह का स्वागत
                श्री दशरथ सिंह झाला, सत्यनारायण सोमानी, कालू लाल जी सोनी, इंद्र मोहन सैनी, योगेश गुप्ता, कृष्ण चंद्र जी जानी, राजेंद्र अग्रवाल , धीरज पाटीदार , विक्रम भटनागर, निर्विकार रातडिया ,पुलकित पटवा ,हरि राव जाधव, नीलेश जैन ,प्रदीप गुप्ता ,सुरेश देवड़ा ,सुनील बंसल ,बंसीलाल टाक ,श्यामसुंदर देशमुख ,रमेश चंद्र ,बद्री लाल चौहान, रमेश जैन, सतीश कच्छावा, देवेश चांदेकर, संतोष शर्मा आदि ने किया।
                चल समारोह के अवसर पर मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ के श्री केंद्रीय गुरु सिंह सभा के प्रांतीय पदाधिकारी श्री अमरजीत सिंह चावला, श्री गुरु चरण बग्गा एवं श्री सतीश कपूर भी उपस्थित थे आप सभी का आभार प्रदीप भाटी द्वारा माना गया।