साम्प्रदायिता में झुलस रहे ग्राम हापला दीपला मे अब आग लगाने की धमकियों की गूंज

11:15 pm or November 17, 2020
साम्प्रदायिता में झुलस रहे ग्राम हापला दीपला मे अब आग लगाने की धमकियों की गूंज

मयंक शर्मा

खंडवा १७ नवंबर ;अभी तक; समीपस्थ ग्राम हापला-दिपला में मंगलवार संध्या में  फिर से दो समुदाय में  गहमागहमी का माहौल है।  एक समुदाय के लोगों द्वारा  गाली गलौज करने से दूसरे समुदाय के लोग भड़क गए। इस बारे में पता चलते ही नगर पुलिस अधीक्षक ललित गठरे और कोतवाली थाना  प्रभारी बीएल मंडलोई पुलिसकर्मियों के साथ गांव पहुंचे और स्थिति पर नियंत्रण किया। श्री गठरे ने कहा कि ग्राम में पुलिस बल तैनात है और  स्थिति पर सतत निगरानी रखी ज रही है।

इसके पहले मंगलवार  दोपहर में ग्राम हापला-दिपला के ग्रामीणों ने आग लगाने की मिल रही धमकियो से चितित होकर यहां  एक बडी रैली निकाली। जिला पंचायत चैराहे से एसपी कार्यालय तक निकाली में  ग्रामीण नारेबाजी कर रहे थे। एसपी कार्यालय पहुंचकर ं  अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रकाश परिहार को ज्ञापन सौंपा। ग्रामीणों ने कहा कि गत दिनों एक समुदाय के युवक की हत्या के मामले में बेवजह  बेकसूर ग्रामीणों के साथ पुलिस ज्यादती कर रही है। उन्होंने कहा कि दूसरा समुदाय गांव खाली करने की धमकी दे रहा है। ऐसा नहीं करने  पर वे घरों में आग लगाने तक की बात कर रहे हैं। पुलिस इन लोगों पर कार्रवाई नहीं कर रही है।

ग्रामीणों की व्यथा यह है कि  खेत कैसे जाएं,। अब तो खेत जाने में भी डर लगने लगा है। रात में एक बजे बिजली आती  है। ऐसे में रात में सबसे ज्यादा खतरा है। कहीं हमारी हत्या न हो जाए। अब तो घर से बाहर निकलने में भी डर लग रहा है। कुछ लोग घरों  को जलाने की धमकी दे रहे हैं। ऐसे में अगर फसल को पानी नहीं देंगे तो सूख जाएगी। पुलिस द्वारा पूछताछ के नाम पर ज्यादती की जा  रही है। रैली ने ज्ञापन सैापते   हुये यह बात कही है।

ग्राम हापला-दिपला में रहने वाले दो समुदायों के लोगों ने एक-दूसरे पर इस तरह के गंभीर आरोप लगाए हैं। दोपहर में दोनों  समुदायों के लोगों ने बारी-बारी से एसपी कार्यालय में ज्ञापन दिया। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रकाश परिहार ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद  दोषियों पर कार्रवाई करने का आश्वासन दिया।

ं                 ग्राम हापला-दिपला के दूसरे समुदाय के लोगों ने भी एसपी कार्यालय को ज्ञापन सौंपा था। वे पहले एसपी के हाथ में ही  ज्ञापन देने पर अड़े रहे। इस बीच अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक परिहार उन्हें समझाने की कोशिश करते रहे। थोड़ी देर बाद इन लोगों ने  अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक परिहार को ही ज्ञापन सौंप दिया। इस दौरान ग्रामीणों ने कहा कि खेत में सिंचाई के लिए रात में बिजली मिल रही  है। हमारे समुदाय के व्यक्ति शरीफ(49 साल) की हत्या के बाद अब हमें खेत जाने में डर लगने लगा है। गांव में डर का माहौल है। आरोपितों  को गिरफ्तार कर उन पर सख्त कार्रवाई की मांग ज्ञापन में की गयी है।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *