सीएम राइज स्कूल में मनाया गया प्रवेश उत्सव, कलेक्टर ने बच्चों को वितरित की पुस्तकें

10:14 pm or June 17, 2022
(दीपक शर्मा)
पन्ना १७ जून ;अभी तक;  पन्ना कलेक्टर श्री संजय कुमार मिश्र शुक्रवार को बायपास रोड स्थित सीएम राइज स्कूल, पन्ना के प्रवेश उत्सव में शामिल हुए। इस मौके पर बच्चों और अभिभावकों का तिलक लगाकर स्वागत किया गया। कलेक्टर ने भी शाला पहुंचे बच्चों का माल्यार्पण कर पुस्तक भेंट की। इस अवसर पर जिला शिक्षा अधिकारी, डीपीसी, स्कूल प्राचार्य एवं शिक्षक तथा बच्चों के अभिभावकगण उपस्थित थे। स्कूल की छात्राओं द्वारा सरस्वती वंदना और स्वागत गीत प्रस्तुत किया गया।
                          कलेक्टर श्री मिश्र ने प्रवेश उत्सव के अवसर पर कहा कि सीएम राइज विद्यालय में अब ग्रामीण bn पृष्ठभूमि के बच्चों को भी अच्छी और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के साथ-साथ सर्वांगीण विकास का बेहतर मौका मिल सकेगा। बच्चों को पढ़ाई का अलग अनुभव मिलने के साथ ही रोजगारपरक शिक्षा के लिए मार्गदर्शन भी प्रदान किया जाएगा। उन्होंने कहा कि स्कूल में बच्चों के अध्यापन के लिए चयनित शिक्षकों को भी नई मानसिकता और उत्साह के साथ जिम्मेदारी के साथ कार्य करना होगा। उन्होंने कहा कि आर्थिक रूप से कमजोर परिवार के बच्चों को भी बेहतर शिक्षा का अधिकार है। सीएम राइज स्कूल के माध्यम से बच्चों को निजी और कान्वेंट स्कूल जैसी सुविधाएं सुलभ होंगी। शैक्षणिक स्तर का सतत् मूल्यांकन भी होगा। सीएम राइज स्कूल भवन, प्रयोगशाला, छात्रावास और खेल मैदान विकसित करने के साथ-साथ सीएम राइज स्कूल परिसर को सर्वसुविधायुक्त किया जाएगा।
कलेक्टर श्री मिश्र ने कहा कि सभी शिक्षकों का स्कूल में अध्ययनरत बच्चों को स्वयं के बच्चों की तरह ही शिक्षित करने का लक्ष्य होना चाहिए, जिससे आगे बढ़ने में कोई बाधा न हो। शिक्षकों के बेहतर अध्यापन और आगे बढ़ने का माहौल उपलब्ध कराने से बच्चे निश्चित ही परिश्रम कर अपने लक्ष्य की ओर अग्रसर होंगे। उन्होंने कहा कि बच्चों में पढ़ाई के प्रति रूचि बढ़ाने का प्रयास कर बच्चों को पढ़ाई में अव्वल रहने के साथ ही अच्छा नागरिक बनने के लिए प्रोत्साहित करें। कलेक्टर द्वारा पालकों को अपने बच्चों के लिए सीएम राइज स्कूल के चयन पर बधाई दी गई। बच्चों को भी प्रवेश उत्सव पर शुभाकामनाएं दीं।
                           कार्यक्रम की शुरूआत में सीएम राइज स्कूल की अवधारणा और उद्देश्य के बारे में अवगत कराया गया। बताया गया कि स्कूल के 15 किलोमीटर के क्षेत्र में रहने वाले बच्चों को बस की सुविधा भी उपलब्ध कराई जाएगी। स्कूल में स्मार्ट तरीके से हिन्दी और अंग्रेजी माध्यम में बच्चों को शिक्षा मिलेगी।