सीएम हेल्पलाइन से प्राप्त शिकायतों त्वरित निराकरण हो…प्रभारी मंत्री श्रीडंग

5:46 pm or January 23, 2023

 

आनंद ताम्रकार
बालाघाट २३ जनवरी ;अभी तक; सीएम हेल्पलाइन षासन की महत्वपूर्ण सूविधा है जिसके माध्यम से जनसामान्य में षासन के प्रति विष्वास और उनकी समस्याओं के समाधान किये जाने पर जनता को लाभ मिल रहा है। ऐसी जन सुविधा की आड़ मे यदि कोई अधिकारी कर्मचारी सीएम हेल्पलाइन के माध्यम से मिली षिकायतों को निराकरण में लापरवाही बरतेगा अथवा गलत तथ्यों से षिकायतों को बंद करेगा उस अधिकारी के प्रति कडी से कडी कार्यवाही की जायेगी। किसी भी स्थिति में शिकायतकर्ता की संतुष्टि के बिना शिकायतों को निराकरण नहीं किया जाना चाहिए
                                इस आशय का जवाब जिले के प्रभारी मंत्री श्री हरदीप सिंह डंग ने आज जिलाधीश कार्यालय में आयोजित पत्रकार वार्ता में वरिष्ठ द्वारा पूछे गये प्रश्न के उत्तर पर दिया।
                                जिले के  प्रभारी मंत्री को श्री डंग को श्री ताम्रकार ने अवगत कराया था की बालाघाट जिले में सीएम हेल्पलाइन के माध्यम से मिली शिकायतों का त्वरित एवं समाधान कारक निराकरण नहीं किया जा रहा है तथा शिकायतकर्ता की संतुष्टि प्राप्त किये बिना ही शिकायतों की जांच बंद की जा रही है।
ऐसा ही मामला वारासिवनी नगर पालिका परिशद वारासिवनी से जुड़ा है जिसमें नेहरू चैक स्थित षासकीय नजूल भूमि पर अवैध निर्माण कर लिया गया जिसकी षिकायत सीएम हेल्पलाइन में 3 माह पूर्व की गई थी जिस समय अवैध निर्माण कार्य प्रारंभ हुआ था 3 माह बितने के बाद भी आज तक उक्त षिकायत का निराकरण नही किया गया और षिकायतकर्ता से संतुश्टि प्राप्त किये बिना ही षिकायत मुख्य नगर पालिका अधिकारी द्वारा बंद करवा दी गई। जबकी 3 माह की अवधि में निर्माण पूर्ण कर लिया गया और प्रेशित षिकायत आज भी लंबित है।