सूदूर तक फेले मंदसौर जिले के लिये संजीत चंबल ब्रिज विकास के नये आयाम खोल सकता है-श्री मांगरिया

5:39 pm or November 20, 2022
महावीर अग्रवाल 
मंदसौर २० नवंबर ;अभी तक;  नीमच जिले के विभाजन के बावजुद मंदसौर जिला भौगोलिक दृष्टी से आज भी वृहद है। संजीत से लेकर गांधी सागर तक फैले मंदसौर जिले में आवागमन की दृष्टी से सडको का जाल तो बिछा है किन्तु यात्रा को छोटा करने एवं बेहतर तरिके से आवागमन साधन विकसित करने की ओर प्रभावी पहल की अब भी दरकार है। निरंतर मंदसौर के संजीत क्षेत्र से लगी चंबल नदी पर ब्रिज निर्माण की मांग लगातार होती रही किन्तु कभी सर्वे तो कभी बडे बजट के चलते कार्ययोजना पर कार्य नही हो सका। अगर यह ब्रिज बनता है तो मंदसौर जिले के विकास एवं आवागमन के लिये नये द्वार खोल सकता है जिसके लिये मध्यप्रदेश सरकार और जनप्रतिनिधियो को गंभीरता से विचार करना होगा।
                            मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री एवं मल्हारगढ विधानसभा के कांग्रेस नेता श्री प्रवीण मांगरिया ने संजीत चंबल ब्रिज निर्माण की मांग को पुनः ताजा करते हुये कहा कि मंदसौर संजीत क्षेत्र की दूरी लगभग 32 किलोमीटर है, यहां चंबल नदी लगभग 500 मीटर पर अगर ब्रिज का निर्माण होता है तो सूदूर मेलखेडा, गरोठ तक पहुंचने वाला मार्ग लगभग 30 से 35 किलोमीटर तक कम होगा, आज भी ग्रामीण चंबल के दूसरी ओर जलमार्ग से खतरा उठाकर जाते है क्योकि इससे यात्रा की अवधि और दूरी कम होती है।
                                श्री मांगरिया ने कहा कि हमारे देश में आवागमन को सरल बनाने के लिये बडे- बडे प्लान बनाये गये किन्तु मंदसौर जिले के जनप्रतिनिधियो में इच्छा शक्ति के अभाव के चलते कार्य नही हो सका हैं। उन्होनें कहा कि मध्यप्रदेश के वित मंत्री मल्हारगढ विधानसभा के विधायक है किन्तु तीन बार निर्वाचित होने के बावजुद संजीत चंबल ब्रिज निर्माण के मार्ग में आ रही बाधाओ को दूर नही कर सके है। लगातार गरोठ को अगर जिला बनाने की मांग हो रही है जिसका प्रमुख कारण मंदसौर जिला मुख्यालय का क्षेत्र से दूरस्थ स्थित होना है, अगर संजीत के समीप चंबल पर ब्रिज बनता है तो न केवल मंदसौर जिले का विकास होगा बल्कि इससे गरोठ एवं भानपुरा क्षेत्र के नागरिक भी कम समय में मंदसौर जिला मुख्यालय आ जा सकेगे।
                           श्री मांगरिया ने मध्यप्रदेश शासन से मांग की है कि संजीत क्षेत्र से चंबल पर ब्रिज निर्माण की प्लानिंग बनाने में काफी देर हो चुकी है, ऐसे में सरकार इस प्लानिंग पर कार्य शुरू करे जिससे संजीत क्षेत्रवासियो सहित सभी के लिये विकास की नये द्वार खुल सके