सैकडों किसानों के साथ मूंग खरीदी में हुई धोखाधड़ी ‘ देषियों के विरुद्ध कार्रवाई हो !- विधायक नारायण पटेल

मयंक शर्मा
खंडवा २९ दिसंबर ;अभी तक;  जिले के  पुनासा ब्लॉक के किसानो के साथ मूंग खरीदी में हुई
धोखाधड़ी के मामले को लेकर बुधवार को मांधाता विधायक नारायण पटेल ने एसपी
मुलाकात कर उक्त पूरे मामले  गडबडियों को लेकर शिकायती  आवेदन व
दस्तावेजों सौंपा।
                 श्री पटेल ने बताया गया कि  किसानों के द्वारा पंजीयन केंद्र पर उच्च
गुणवत्ता का माल दिया था लेकिन जांच अधिकारियों द्वारा मौके पर निम्न
गुणवत्ता का माल पाया। अधिकारियों ने खरीदी की फर्जी तारीख भी बना ली।
भुगतान ना करना पड़े इसलिए फर्जी लिस्ट पेश की।फर्जी दस्तावेज बनाए गए।
उन्होने आरोप लगाया कि अधिकारियों द्वारा मूंग खरीदी में काफी गड़बड़ी की
गई और वास्तविकता से परे  किसानों को ही दोषी ठहराया गया।  इसकी
उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिए और दोषी अधिकारियों के विरुद्ध मामला दर्ज
होना चाहिए।
                    पत्रकारों से चर्चा में विधायक ने बताया कि उक्त मामले को लेकर सहकारिता
मंत्री के साथ ही प्रदेश के मुख्यमंत्री से चर्चा कर दोषियों पर
कार्यवाही की मांग करेगे। उन्होने कहा कि
किसान झुमका बाई पति चंपालाल, जेसे सैकडों सभी पुनासा के निवासी हैं जो
कि किसान हैं। उन्होने  पुलिस अधीक्षक को आवेदन में कहा कि हरिशंकर पिता
कैलाश शर्मा समिति प्रबंधक सेवा सहकारी समिति पुनासा कैलाश चैहान खरीदी
प्रभारी सेवा सहकारी समिति पुनासा गणेश जगताप गुणवत्ता सर्वेयर सेवा
सहकारी समिति पुनासा लोकेश गुर्जर वेयरहाउस प्रभारी लक्ष्मी गंगा एग्रो
वेयरहाउस नीग्वाल कृषि उपसंचालक जसवादी रोड खंडवा पुरुषोत्तम दलाल शाखा
प्रबंधक जिला सहकारी बैंक रिचफल सोसाइटी पुनासा अरुण कुमार हरसोला
महाप्रबंधक जिला सहकारी बैंक खंडवा रोहित श्रीवास्तव पिता राजकुमार
श्रीवास्तव जिला विपणन अधिकारी मध्य प्रदेश राज्य सहकारी विपणन संघ के
विरुद्ध ज्ञापन दिया है जिसमें बताया गया कि नर्मदा थाने के अंतर्गत
रोहित श्रीवास्तव के आदेश पर अपराध क्रमांक 259/  21 धारा 420, 120 बी
धारा 3,7,9, पुनासा केंद्र द्वारा आसपास के किसानों को पंजीयन केंद्र पर
किसानों के नाम पर भेजा गया मैसेज मोबाइल पर जिसमें अपना माल लेकर नियत
दिनांक पर उपस्थित रहे अपनी मूंग की फसल को लेकर पंजीयन केंद्र लक्ष्मी
गंगा वेयरहाउस पुनासा में पहुंचे जहां पर गणेश जगताप ने जो की गुणवत्ता
सर्वेयर द्वारा किसानों की मूंग की फसल का सैंपल लिया गया और उच्च
गुणवत्ता पाने के बाद माल को तुला वटी हमारो को निर्देशित किया गया ।
माल तुलावट की गई बाद में तोल पर्ची बनाने के बाद कंप्यूटराइज बिल
किसानों को दिया गया जिसमें बताया गया कि कितना माल दिया गया है ।
विधायकने कहा कि  अधिकारियों द्वारा मूंग खरीदी में हेराफेरी की गई माल
को बदला गया और फर्जी तरीके से 18 मई 2021 का किसानों का दस्तावेज फर्जी
बनाया गया। अधिकारियों द्वारा अपने को बचाने के चक्कर में किसानों के साथ
धोखाधड़ी की गई ।फर्जी दस्तावेज बनाने का काम किया गया ।समस्त किसान इस
पूरे मामले की उच्च स्तरीय जांच की मांग करते हैं एसपी को एक लेटर दिया
है।
उधर रोहित कुमार श्रीवास्तव द्वारा पुलिस को दिए गए आवेदन में वास्तविक
तथ्यों को छुपा के आवेदन दिया गया जिस पर से नर्मदा नगर पुलिस द्वारा
अपराध कायम किया गया है ।यह आवेदन में फरियादी रोहित कुमार द्वारा यह
लिखा गया है कि अन्य आवेदक गणों ने फर्जी तरीके से किसानों के नाम दर्ज
किए हैं जबकि वास्तविक रूप से किसानों से माल लिया गया किंतु फरियादी
रोहित कुमार द्वारा सोए अपने बचाव एवं अन्य अधिकारियों के नामं उजागर
नहीं किया गया और आवेदन पत्र में गलत जानकारी प्रस्तुत की गई ।