स्ट्रेचर पर दो किलोमीटर पैदल आने के बावजूद नहीं बचा पाए वृद्ध की जान

मयंक भार्गव बैतूल से
बैतूल २२ नवंबर ;अभी तक;  बैतूल- इटारसी रेल सेक्शन में घोड़ाडोंगरी रेलवे स्टेशन से लगभग दो किलोमीटर दूर रेलवे ट्रेक के पास घायल अवस्था में मिले एक वृद्ध को एंबूलैंस 108 की टीम द्वारा लगभग दो किलोमीटर तक स्ट्रेचर पर लाने के बावजूद वृद्ध की जान नहीं बच पाई। घोड़ाडोंगरी अस्पताल में उपचार के दौरान वृद्ध ने दम तोड़ दिया। वृद्ध के किसी ट्रेन से गिरने की आशंका जताई जा रही है। उसकी शिनाख्त नहीं हुई है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
                   घोड़ाडोंगरी रेलवे स्टेशन से लगभग दो किलोमीटर दूर पटरी किनारे एक लगभग 60 वर्षीय वृद्ध के घायल होने की सूचना एंबूलैंस 108 को मिलने पर 108 के स्टाफ जितेन्द्र पवार और नवनीत बरडे वृद्ध को लेने रवाना हुए। रेलवे ट्रेक के किनारे से एंबूलैंस जाने के लिए रास्ता नहीं था जिसके चलते 108 टीम के साथ ही पुलिसकर्मी पैदल ही लगभग 2 किलोमीटर तक गए। यहां गंभीर रूप से घायल वृद्ध को स्ट्रेचर पर लिटाकर उसे लगभग दो किलोमीटर दूर खड़ी एंबूलैंस तक लाया। एंबूलैंस से उसे घोड़ाडोंगरी अस्पताल ले जाया गया। अस्पताल में वृद्ध का प्राथमिक उपचार करने के बाद उसे जिला अस्पताल भेजने की तैयारी कर रहे थे। इस दौरान वृद्ध ने दम तोड़ दिया। वृद्ध कैसे घायल हुआ इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है। आशंका जताई जा रही है कि किसी ट्रेन से गिर गया होगा या फिर आसपास के किसी गांव का है इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है। पुलिस ने मर्ग कायम किया है। पुलिस वृद्ध की शिनाख्ती का प्रयास कर रही है।
 

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *