स्वच्छता परिसर बन गए, अब गंदगी मुक्त होंगी ग्राम पंचायतें

7:59 pm or October 11, 2020
स्वच्छता परिसर बन गए, अब गंदगी मुक्त होंगी ग्राम पंचायतें

आशुतोष पुरोहित

खरगोन 11 अक्टूबर ;अभी तक; प्रदेश की 33 जिलों की ग्राम पंचायतों में वर्ष 2020-21 में 106.40 करोड़ की लागत से निर्मित 318 ग्राम पंचायत भवन, 262 सामुदायिक भवन, 1004 सामुदायिक स्वच्छता परिसरों का मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने रविवार को भोपाल से वर्चुअल लोकार्पण किया। इन जिलों में खरगोन जिले की ग्राम पंचायत बरूड़ के सामुदायिक स्वच्छता परिसर का भी वर्चुअल लोकार्पण भी शामिल है। इस दौरान मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ग्राम के सरपंच गीना हीरालाल अछाले से सीधे संवाद करते हुए ग्राम में स्वच्छता परिसर निर्माण से ग्राम मंे हुए सकारात्मक पक्ष को जाना। संवाद में श्री अछाले ने मुख्यमंत्री श्री चौहान को बताया कि गांव के सर्वाधिक गंदे स्थल को सामुदायिक स्वच्छता परिसर की सौगात देकर यह स्थल पिकनिक स्पॉट जैसा लगने लगा है। अब ग्रामीणों द्वारा गंदगी न करते हुए ग्राम पंचायत बरूड़ को मध्यप्रदेश के पटल पर रोशन किया है। कार्यक्रम में खरगोन जनपद सीईओ राजेंद्र शर्मा, कार्यपालन यंत्री ग्रामीण यांत्रिकी सेवा संभाग खरगोन मयंक तिवारी, एसडीएम सत्येंद्र चौहान, तहसीलदार आरसी खतेड़िया, सहायक यंत्री विनोद गंगवाल, बीसी-एसबीएम राकेश चौबे, ग्राम पंचायत सचिव राजू खान एवं समस्त स्थानीय जनप्रतिनिधि, अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।

कैंची चलाने के स्थान पर खोले दिलों की गांठे

                   कार्यक्रम में उपस्थित क्षेत्रीय सांसद श्री गजेंद्र पटेल द्वारा सामुदायिक स्वच्छता परिसर का लोकार्पण किया। इस दौरान उन्होंने कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा पी एवं जिला पंचायत के अतिरिक्त सीईओ श्री पुरूषोत्तम पाटीदार को निर्देशित किया गया कि आगामी लोकार्पण कार्यक्रमों में कैंची से फीता काटने के बजाय फीते पर गांठ बांधे एवं इस गांठ को खोलकर ही लोकार्पण कराएं। सांसद श्री पटेल ने कहा कि समय कैंची चलाने का नहीं है, दिलों की गांठे खोलकर जनप्रतिनिधि एवं प्रशासन शासकीय योजनाओं से अंतिम व्यक्ति को लाभांवित करने का है। इस अवसर पर कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा ने सांसद श्री पटेल को अवगत कराया कि निर्मित स्वच्छता परिसरों को स्वच्छ रखने एवं उचित संधारण के लिए व्यवस्थाएं की गई है। प्रत्येक परिसर में हैंडवॉश, सेनेटाइजर, साबुन, टौलियां, रनिंग वाटर के साथ ही अन्य प्रसाधन उपलब्ध होंगे। सांसद श्री पटेल एवं कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा सहित अन्य अधिकारियों ने सामुदायिक स्वच्छता परिसरों का अवलोकन भी किया।

सर्वाधिक गंदे ग्राम को चमकाने पर मिली सरपंच को बधाई

जिला पंचायत के स्वच्छ भारत मिशन के एचएल पाटील ने बताया कि मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा ग्राम मंे संचालित अन्य योजनाओं के तहत राशन वितरण, खाद्यान्न पर्ची, संबल योजना, अप्रवासी मजदूरों के साथ ही कोविड-19 जैसे विषयों पर विस्तृत रूप से संवाद किया। साथ ही कार्यक्रम में उपस्थित सांसद श्री पटेल से भी क्षेत्र की जानकारी प्राप्त की। संवाद के दौरान सरपंच को उत्कृष्ट कार्य करने एवं परिसर के माध्यम से ग्राम को गंदगी मुक्त करने के लिए बधाई दी। सरपंच द्वारा मुख्यमंत्री को ग्राम में पधारने के लिए आमंत्रित भी किया, जिस पर मुख्यमंत्री द्वारा अपनी सहमति जताई गई।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *